VIRAT KOHLI IND VS SA

टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज विराट कोहली ने रविवार को साउथ अफ्रीका के खिलाफ शानदार शतकीय पारी खेली। इस मैच में उन्होंने अपने करियर का 49वां वनडे शतक जड़कर महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की बराबरी की। कोहली ने ये कारनामा 277 पारियों में कर दिखाया। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 121 गेंदों में 101 रनों की नाबाद पारी खेली।

विराट कोहली ने की सचिन तेंदुलकर की बराबरी

बता दें कि टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली ने महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। किंग कोहली वनडे विश्व कप के इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में तीसरे नंबर पर पहुंच गए हैं। उन्होंने श्रीलंका के कुमार संगकारा को पीछे छोड़ दिया है।

34 मैचों में धाकड़ बल्लेबाज ने 58.25 के औसत से 1573 रन बनाए हैं। इसमें उनके नाम चार शतक और 10 अर्धशतक दर्ज हैं। वहीं, किंग कोहली का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 107 रन है।

पूर्व क्रिकेटर ने किया धाकड़ बल्लेबाज का समर्थन

इस बीच पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने विराट कोहली के आलोचकों को फटकार लगाई है। दरअसल, क्रिकेट आलोचकों ने किंग कोहली को ‘स्वार्थी’ और ‘निजी उपलब्धियों का जुनूनी’ क्रिकेटर करार दिया।

इस पर अब वेंकटेश प्रसाद ने रिएक्ट किया है। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट करते हुए कहा कि, किंग कोहली सही तरीके से ‘स्वार्थी’ हैं।

वेंकटेश प्रसाद ने कहा कि,

“विराट कोहली के स्वार्थी होने और निजी उपलब्धियों को लेकर जुनूनी होने के बारे में कुछ मजेदार बयान सुन रहा हूं। हां, कोहली स्वार्थी हैं, एक अरब लोगों के सपने का ध्यान रखने और उन्हें पूरा करने के लिए वह स्वार्थी हैं। कोहली इतने स्वार्थी हैं कि इतना कुछ हासिल करने के बाद भी हर मैच में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने का प्रयास करते हैं। युवाओं के लिए नए बेंचमार्क स्थापित करने के लिए वह स्वार्थी हैं। अपनी टीम की जीत सुनिश्चित करने के लिए भी वह स्वार्थी हैं। हां, कोहली स्वार्थी हैं।”

ALSO READ: ‘मैंने रोहित का ये रूप कभी नहीं देखा…’ विराट कोहली ने भारतीय कप्तान को लेकर किया बड़ा खुलासा, कही चौंकाने वाली बात