alcoholic cricketer

वर्ल्ड क्रिकेट के इतिहास में ऐसे कई सारे खिलाड़ी देखने को मिले हैं। जिनके करियर की शुरुआत तो काफी शानदार तरीके से हुई। लेकिन कुछ ना कुछ गलतियों की वजह से इनका करियर पूरी तरीके से बर्बाद हो गया। क्रिकेट के मैदान में एक खिलाड़ी को अपनी फिटनेस बरकरार रखने के लिए कड़ी से कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे हुए हैं। जिनका क्रिकेट करियर नशे की लत की वजह से तबाह हुआ। आइए डालते हैं खिलाड़ियों पर एक नजर।

विनोद कांबली

इस कड़ी में सबसे पहला नाम विनोद कांबली का आता है, जो सिर्फ 21 साल की उम्र में ही दोहरा शतक लगाकर सुर्खियों में आए। बाएं हाथ के खिलाड़ी विनोद कांबली का करियर जितनी तेजी से ऊपर उठा उतनी तेजी से ही नीचे गिर गया।

विनोद कांबली कब ईद का चांद हो गए। यह किसी को भी पता नहीं चला शराब की लत और खराब अनुशासनहीनता की वजह से विनोद का करियर पूरी तरीके से चौपट हो गया।

एंड्रयू सायमंड्स

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज खिलाड़ी एंड्रयू सायमंड्स का करियर शराब की लत और अनुशासनहीनता की वजह से खराब हुआ। बता दें कि साइमंड्स की गिनती दुनिया के दिग्गज ऑलराउंडर खिलाड़ियों में की जाती थी।

एंड्रयू सायमंड्स ने खुद भी एक इंटरव्यू के दौरान इस बात का खुलासा किया था कि वह एक ही बार में पूरी शराब की बोतल गटकने की क्षमता रखते हैं।

शेन वॉर्न

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्पिनर शेन वार्न का करियर भी काफी विवादों में रहा है। उन्होंने साल 2003 वर्ल्ड कप का दौरा किया जब वह ड्रग पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके चलते उन्हें टूर्नामेंट बीच में ही छोड़ना पड़ा।

हालांकि शेन ने किसी भी नशीली दवा का इस्तेमाल करने से इनकार किया। मगर रिपोर्ट में सच्चाई सामने आ गई। बता दें कि शेन वार्न की मौत 4 मार्च 2022 को थाईलैंड एक विला में हुई थी।

ALSO READ: एशिया कप 2023 के लिए भारतीय टीम की हुई घोषणा, सिर्फ 5 मैच खेलने वाले इस खिलाड़ी को मिली जगह, देखें 15 सदस्यीय टीम