मयंक अग्रवाल

IPL 2022 का 11वां मुकाबला रविवार को चेन्नई सुपर किंग्स और पंजाब किंग्स के बीच खेला गया। ब्रेबोर्न स्टेडियम सीसीआई में हुआ यह मुकाबला पंजाब ने 54 रनों से जीत लिया। चेन्नई सुपर किंग्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। 

पंजाब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 180 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई की टीम निर्धारित 18 ओवर में 126 रन बनाकर ही ढेर हो गई है। पंजाब की इस सीजन में दूसरी जीत है। 

इस तरह CSK को लीग के मौजूदा सीजन में लगातार तीसरी हार झेलनी पड़ी। राहुल चाहर ने 3 विकेट चटकाए। वहीं लियम लिविंगस्टन और वैभव अरोरा दो दो विकेट अपने नाम किए। वहीं कगिसो रबाडा, अर्शदीप सिंह और ओडीन स्मिथ ने एक एक विकेट लिए।

मयंक अग्रवाल ने अपने खिलाड़ियों पर जताया भरोसा

पंजाब के कप्तान मयंक अग्रवाल ने पोस्ट मैच में बातचीत के दौरान बताया कि उनकी टीम के लिए नई गेंद से जल्दी विकेट लेना अहम था और यही उनके लिए काम कर गया। उन्होंने कहा,

“हम सोच रहे थे कि हम 5-7 रन कम हैं, लेकिन हमें पता था कि 180 का पीछा करना आसान नहीं होगा, खासकर अगर हम नई गेंद से विकेट लेते हैं और ठीक यही हमने किया है। खेल के उस हिस्से को जीतकर हम खेल जीत गए। (लिविंगस्टोन से कहा) कुछ नहीं। जब वह बल्लेबाजी कर रहे होते हैं तो सभी की सांसें थम जाती हैं। उनके द्वारा हिट किए गए कुछ शॉट शानदार हैं।” 

मयंक अग्रवाल ने आगे कहा,

“कुछ साल पहले वैभव हमारे साथ थे.. उसका टैलेंट देखा। वह अलग है, वह युवा है और उसके पास कुछ अच्छे कौशल हैं। जितेश को अनिल भाई ने उन्हें तब देखा था जब वह एमआई में थे। उन्होंने कहा कि हमें इस बच्चे को लाना है। उसकी खेल अच्छी है। उनके बारे में सबसे खास बात उनका रवैया है। तुम भूख देख सकते हो, तुम चाह देख सकते हो। निश्चित रूप से कठिन और सकारात्मक क्रिकेट खेलना चाहता हूं। भावनात्मक रूप से बुद्धिमान होना चाहिए।”

ALSO READ:IPL 2022: बल्ले और गेंद से कहर ढाहने के बाद ‘मैन ऑफ़ द मैच’ लियाम लिविंगस्टोन ने खुद को नहीं इन्हें बताया जीत का असली हीरो

चेन्नई की खराब शुरुआत

181 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई की खराब शुरुआत हुई। चेन्नई के 2 विकेट 3 गेंदों के अंतराल पर गिर गए। दूसरे ओवर की अंतिम गेंद पर कागिसो रबाडा ने ऋतुराज गायकवाड़ (1) को पवेलियन भेजा। अगले ही ओवर की दूसरी गेंद पर रॉबिन उथप्पा (13) को वैभव अरोड़ा ने मयंक अग्रवाल के हाथों कैच करा दिया। वैभव अरोड़ा का यह लीग में पहला विकेट है। उथप्पा ने 10 गेंदों की अपनी पारी में 2 चौके लगाए। 

इसके बाद चेन्नई के कप्तान रवींद्र जडेजा और मोईन अली बिना खाता खोले ही पवेलियन लौटे। टीम को 5वां झटका अंबाती रायुडू के तौर पर लगा। रायुडू 13 कैच आउट हो गए। इसके बाद शिवम दुबे ने 30 गेंदों में 57 रन जोड़े। जिसमें 6 चौके और 3 सिक्स शामिल है। ड्वेन ब्रावो भी बिना कोई रन बनाए पवेलियन लौटे।

ALSO READ:IPL 2022: रविंद्र जडेजा नहीं बन पाएंगे धोनी, लगातार मिली हार के बाद मिला एक और बहाना इन पर फोड़ा हार का ठीकरा