इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 में बुधवार को हुए मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को 13 रनों से मात दी है। महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी संभालने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स की यह पहली हार है। 

जबकि आरसीबी को लगातार तीन हार के बाद जीत नसीब हुई है, ऐसे में अब आरसीबी के प्लेऑफ में जाने की उम्मीद बरकरार है। इस मैच में बेंगलुरु ने पहले बैटिंग करते हुए 173 रन बनाए थे, लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स 20 ओवर में 160 रन ही बना पाई।

आखरी ओवर में लगे 17 रन

चेन्नई सुपर किंग्स को आखिरी ओवर में जीत के लिए 31 रन चाहिए थे, जो नामुमकिन ही थे। आखिरी ओवर में चेन्नई की टीम 17 रन ही बना पाई, इसमें दो छक्के और एक चौका लेग-बाइ का शामिल रहा। ऐसे में चेन्नई की 13 रनों से हार हुई। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इस मैच में सिर्फ 2 ही रन बना पाए और उनका विकेट गिरते ही सीएसके की उम्मीद भी टूट गई थी।

ALSO READ:IPL 2022 Points Table: 48वां मुकाबले के बाद अब इन 4 टीमों का प्लेऑफ खेलना हुआ तय, इन टीमों का ख़त्म हुआ सफ़र

धोनी का नही चला जादू

मैच के बाद सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने कहा,

“हमने उन्हें 170 रन तक सीमित रखने के लिए अच्छा प्रदर्शन किया। मुझे लगा कि बाद के हाफ में यह बेहतर हो सकता है और हमें अच्छी शुरुआत करनी थी, सब कुछ सही था और बल्लेबाज़ी ने हमें निराश किया। जब आप पीछा कर रहे होते हैं तो आपको पता होता है कि क्या आवश्यक है और कई बार आपको अपनी वृत्ति को मोड़ना पड़ता है और यह देखना होता है कि आपके शॉट खेलने के बजाय वास्तव में स्थिति क्या मांग रही है।

आगे उन्होंने कहा कि, शॉट चयन अंत में बेहतर हो सकता था। हमने अच्छी शुरुआत की और विकेट हाथ में थे, सतह बेहतर हो रही थी लेकिन हमने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए। हम कुछ शॉट्स को पीछे मुड़कर देख सकते हैं, अगर हम उन चीजों का ध्यान रखें.. पीछा करना गणनाओं के बारे में है और वृत्ति के बारे में अधिक है। अंतत: एक बल्लेबाज या गेंदबाज के रूप में आप बीच में होते हैं और आपको फैसला करना होता है, मुझे नहीं लगता कि आज यह कोई समस्या थी। हमें यह देखने की जरूरत है कि क्या गलत हुआ, आपके पास कितने अंक हैं, इससे विचलित होना आसान है, यह गलतियां हैं और यह एक प्रक्रिया है जो मायने रखती है न कि अंक तालिका में आप कहां हैं।”

ALSO READ:IPL 2022: दिनेश कार्तिक ही नही RCB के लिए ये खिलाड़ी बना टीम का खेवनहार, ताबड़-तोड़ बल्लेबाजी कर बनाया सबसे ज्यादा रन