फॉर्म में लौटे अजिंक्य रहाणे और यशस्वी जायसवाल दोहरा शतक जड़ टीम के लिए बनाये 590 रन
फॉर्म में लौटे अजिंक्य रहाणे और यशस्वी जायसवाल दोहरा शतक जड़ टीम के लिए बनाये 590 रन

भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में वापसी की कोशिश में जुटे अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) और सलामी युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने पश्चिम क्षेत्र दलीप ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल के अहम मुकाबले में दोहरा शतक जड़ा है। दोनों खिलाड़ियों ने दोहरे शतक बनाए हैं।

बीते दिन शुक्रवार पूर्वोत्तर क्षेत्र के खिलाफ पहली पारी में दो विकेट पर 590 रन बनाए थे। इस मैच में टीम इंडिया में अपनी वापसी तलाश रहे युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने भी शतक बनाया है। बीते दिन खेल बारिश के कारण महज 25 ओवर ही हो सका था, लेकिन शुक्रवार को पश्चिम क्षेत्र में आसमान साफ होने के चलते 98 ओवर में 474 रन बना लिए।

रहाणे और पृथ्वी शॉ की शानदार डबल सेंचुरी

शुक्रवार तक का खेल खत्म होने तक अजिंक्य रहाणे ने 264 गेंद में 207 रनों की बेहद शानदार पारी खेली। इसमें खिलाड़ी ने 18 चौके और छः छक्के भी लगाए हैं। राहुल त्रिपाठी 25 रन बनाकर क्रीज पर नाबाद रहे। वहीं युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने 228 रन बनाकर डबल सेंचुरी जमाई। इसके अलावा पृथ्वी शॉ ने 113 रनों की पारी भी खेली थी। आज यानी शनिवार को पश्चिम क्षेत्र की टीम 116 रन से आगे खेलने उतरी।

पृथ्वी शॉ ने 61 जबकि यशस्वी जायसवाल ने 55 रन की अपनी नाबाद पारी को आगे बढ़ाएंगे। पृथ्वी शॉ ने खेल में आक्रामक रुख अपनाते हुए पारी खेली तो वही दूसरे युवा खिलाड़ी यशस्वी जायसवाल ने पृथ्वी शॉ के साथ मिलकर स्कोर को पहले 200 रन के पार पहुंचाया था।

Also Read : SL vs IND: अफगानिस्तान के बाद अब श्रीलंका ने दिखाया भारत पर तुक्का थी पाकिस्तान की जीत, 18 गेंद पहले ही श्रीलंकाइयों ने पाक को 5 विकेट से रौंदा

पृथ्वी शॉ और जायसवाल दोनों ही खिलाड़ी हुए कैच आउट

इस मैच ने पृथ्वी शॉ ने अपना शतक पूरा किया जिसके बाद ही अंकुर मलिक की गेंद पर शॉट लगाने के चक्कर में विकेटकीपर आशीष थापा को अपना कैच थमा बैठे। इसके बाद यशस्वी जायसवाल के साथ उनकी 206 रन की साझेदारी का भी अंत हुआ। पृथ्वी शॉ ने अपनी पारी में 11 चौके और पांच छक्के भी लगाए थे।

यशस्वी जायसवाल और अजिंक्य रहाणे के बीच दूसरे विकेट के लिए 333 रन की साझेदारी हुई। दोनों ही खिलाड़ी के बल्लेबाजी को देखकर कहा जा सकता था कि पूर्वोत्तर के गेंदबाजों के खिलाफ दोनों खिलाड़ियों ने मनमर्जी से रन बटोरे।

यशस्वी जायसवाल ने 321 गेंद में 22 चौके और तीन छक्के बटोरे। जिसके बाद गेंदबाज रोंगसेन जोनाथन की गेंद पर यशस्वी जायसवाल बिश्वोरजीत कोंथोजैम के हाथों कैच आउट हुए। अजिंक्य रहाणे ने राहुल त्रिपाठी के साथ मिलकर आगे खेल बढ़ायाकर अपना दोहरा शतक पूरा किया।

Also Read : IND vs AFG: कप्तान बनते ही केएल राहुल ने खेला मास्टरस्ट्रोक रोहित शर्मा की इन 2 गलतियों को सुधार भारत को दिलाई 101 रनों से जीत