10 अक्टूबर तक भारतीय टीम के टी20 विश्व कप टीम में हो सकता है बदलाव, इन 3 खिलाड़ियों को किया जा सकता है बाहर
10 अक्टूबर तक भारतीय टीम के टी20 विश्व कप टीम में हो सकता है बदलाव, इन 3 खिलाड़ियों को किया जा सकता है बाहर

टी20 वर्ल्ड कप (T20 WORLD CUP) 2022 के लिए भारतीय टीम (INDIAN TEAM) का ऐलान 12 सितंबर को किया जा चुका था। लेकिन पर चयनित खिलाड़ियों ने भारत की टेंशन हर वक्त बढ़ाने का ही काम किया है। वर्ल्ड कप में चयनित गेंदबाज लगातार फ्लॉप हो रहे हैं। जसप्रीत बुमराह (JASPRIT BUMRAH) की वापसी ने चिंता दूर की थी, लेकिन वह अब विश्व कप से ही बाहर हो चुके हैं। इन सारी चीजों ने चयनकर्ताओं को टीम बदलने के लिए मजबूर कर दिया हैं।

यानि की कुछ दिन में हमें टी20 वर्ल्ड कप की भारतीय टीम में बड़े बदलाव दिखने वाले हैं। आईसीसी के नियम के अनुसार 10 अक्टूबर तक टीमें बदलाव कर सकती हैं। जिसके बाद फाइनल लिस्ट आईसीसी (ICC) को सौंपनी होगी। टी20 वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले चयनकर्ता इन 3 खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखाने वाला हैं। आइए आपको बताते हैं कौन-कौन हैं वो खिलाड़ी-

1. हर्षल पटेल

हर्षल पटेल (HARSHAL PATEL) एशिया कप 2022 का हिस्सा चोट के चलते नहीं बने थे। उम्मीद थी की वह टी20 वर्ल्ड कप से पहले ठीक हो जाएंगे और ऐसा होता हुआ भी नजर आया। हर्षल ने हाल ही में हुए आस्ट्रेलिया (AUSTRALIA) के खिलाफ टी20 सीरीज से टीम में वापसी की। लेकिन यह वापसी बिल्कुल भी शानदार नहीं हैं।

हर्षल लगातार खराब प्रदर्शन करते हुए नजर आ रहे हैं। हर्षल पटेल अपनी डेथ गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं। लेकिन वह अपनी इस ताकत से भारत को मुसिबत में डाले हुए हैं। उनका प्रदर्शन भारत के लिए डर बन रहा हैं। वर्ल्ड कप से पहले चयनकर्ता हर्षल पटेल को बाहर का रास्ता दिखाकर मोहम्मद शमी (MOH. SHAMI) को शामिल करते हुए नजर आ सकते हैं।

मोहम्मद शमी 140 से ज्याद की स्पीड से गेंदबाजी करने के और गेंद को स्विंग कराने के लिए माहिर हैं। आस्ट्रेलिया की पिचें तेज गेंदबाजों को सपोर्ट करती हैं। शमी नई गेंद से विकेट निकालने के साथ-साथ डेथ गेंदबाजी भी कर सकते हैं। शमी इस वक्त वर्ल्ड कप की टीम में स्टैंडबॉय खिलाड़ी हैं। उनकी अब 15 मेंबर वाली टीम में वापसी होती नजर आ रही हैं।

2. युजवेंद्र चहल

युजवेंद्र चहल (YUZVENDRA CHAHAL) आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुए नजर आए थे जहां उनका प्रदर्शन काफी ज्यादा निराशाजनक था। 3 मैचों की टी20 सीरीज में खराब गेंदबाजी करते हुए उन्होने सिर्फ 2 विकेट ही अपने नाम किए थे।  जिसके चलते कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ ने उन्हें साऊथ अफ्रीका के खिलाफ एक भी मैच में शामिल नहीं किया था।

अब युजी चहल का टीम से पत्ता कटता हुआ नजर आ रहा हैं। चहल की जगह टीम में रवि बिश्नोई (RAVI BISHNOI) को जगह मिल सकती हैं। रवि बिश्नोई युजवेंद्र चहल से ज्यादा अच्छे नजर आ रहे हैं।

बिश्नोई ने अब तक भारत के लिए खेलते हुए 10 मैचों में 16 विकेट अपने नाम किए हैं। रवि बिश्नोई ने एशिया कप में खेलते हुए भी शानदार प्रदर्शन दिखाया था।

बिश्नोई सिर्फ एक मैच में पाकिस्तान के खिलाफ प्लेइंग 11 का हिस्सा थे। लेकिन उनका प्रदर्शन उनकी काबिलियत दिखाने के लिए काफी था। चयनकर्ता चहल को बाहर कर रवि बिश्नोई को स्टैंडबॉय खिलाड़ी से हटाकर मेन टीम में जगह देते दिखाई देंगे।

3. दीपक हुड्डा

दीपक हुड्डा (DEEPAK HOODA) टी20 वर्ल्ड कप की टीम का हिस्सा होने के साथ-साथ आस्ट्रेलिया और साऊथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज का हिस्सा थे। लेकिन हाल में हुई दोनों सीरीजों से कमर में चोट के चलते बाहर ही रहे। अब तक उनको लेकर अपडेट सामने नहीं आई है, लेकिन वह टी20 वर्ल्ड कप की टीम से बाहर होते हुए नजर आ रहे हैं।

दीपक हुड्डा की जगह पर श्रेयस अय्यर को टीम में मौका मिलता हुआ नजर आ रहा है। श्रेयस अय्यर (SHREYAS IYER) ने साऊथ अफ्रीका के खिलाफ दीपक को रिप्लेस किया था। श्रेयस इस वक्त टी20 वर्ल्ड कप की टीम में स्टैंडबॉय खिलाड़ी हैं। श्रेयस अय्यर ने अब तक 46 टी20 इंटरनेशनल मैचों में 1029 रन बनाए हैं।

श्रेयस अय्यर अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। अगर वह क्रिज पर टिक जाए तो भारत के लिए वह दिन चांदी-चांदी हो जाता है। अगर दीपक वर्ल्ड कप के लिए फिट नहीं हो पाते हैं, तो श्रेयस अय्यर उनकी जगह लेते हुए नजर आ सकते हैं।

ALSO READ: जानबूझकर बर्बाद किया गया इन 5 खिलाड़ियों का करियर, प्रतिभा होने के बाद भी नहीं मिला ज्यादा खेलने का मौका

टी20 वर्ल्ड कप 2022 के लिए भारतीय टीम

रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (उपकप्तान), विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, दीपक हुड्डा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, रविचंद्रन अश्विन, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, अर्शदीप सिंह।

स्टैंडबॉय खिलाड़ीः मोहम्मद शमी, श्रेयस अय्यर, रवि बिश्नोई, दीपक चाहर।

ALSO READ: 5 सबसे बदनसीब कप्तान जो अपने देश के लिए नहीं जीत सके 1 भी विश्व कप