South AFrica vs Bangladesh

साउथ अफ्रीका ने बंग्लादेश को 104 रन से हरा दिया है. टॉस जीतकर साउथ अफ्रीका ने बल्लेबाजी करने का फैसला किया. रूसो के शानदार शतक और डीकाक के शानदार अर्धशतक की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 205 रन का स्कोर खड़ा किया. बड़े लक्ष्य का पिछा बंग्लादेश कर नही पाई और यह मैच 100 रन के ऊपर के अंतर से मैच हार गई.

साउथ अफ्रीका ने दिया था 206 रनों का लक्ष्य

पहले बल्लेबाजी करने उतरी साउथ अफ्रीका की शुरुआत अच्छी नही रही और कप्तान टेम्बा बावुमा सिर्फ 2 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इसके बाद डीकाॅक और रूसो ने शानदार साझेदारी बनाई.

डीकाॅक ने 38 गेंदो में 7 चौके और 3 छक्के की मदद से 63 रन की पारी खेली तो रूसो ने शानदार शतक बनाया. रूसो ने 56 गेंदो में 7 चौके और 8 छक्के की मदद से 109 रन की पारी खेली.

बांग्लादेश 104 रनों से हारा

206 रन के लक्ष्य का पिछा करने उतरी बंग्लादेश की शुरुआत बहुत खराब रही. बांग्लादेश का कोई भी बल्लेबाज 40 रन के ज्यादा नही बना पाया. बांग्लादेश के तरफ से सबसे ज्यादा लिटन दास ने 34 रन बनाया. साउथ अफ्रीका के तरफ से सबसे ज्यादा विकेट नाॅखिया ने 4 विकेट लिया.

ALSO READ: IND Vs NED Toss Report : भारत ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का किया फैसला, इन 11 खिलाड़ियों को मिला मौका

साउथ अफ्रीका की जीत का भारत को हुआ फायदा

साउथ अफ्रीका की इस जीत के बाद 2 मैच खेल चुकी अफ्रीकन टीम पॉइंट टेबल के टॉप पर पहुंच चुकी है, लेकिन भारतीय टीम का मुकाबला नीदरलैंड के साथ जारी है और जैसे ही भारत ये मैच जीतेगा साउथ अफ्रीका से उसकी टॉप की जगह छीन लेगा. साउथ अफ्रीका को सबसे बड़ा नुकसान उसका पहला मैच रद्द होने का हुआ.

साउथ अफ्रीका अपना पहला मैच जीतने के करीब थी, लेकिन बारिश की वजह से मैच को रद्द करना पड़ा और साउथ अफ्रीका को 2 की जगह 1 रनों से ही संतोष करना पड़ा. साउथ अफ्रीका के इस नुकसान का फायदा अब भारतीय टीम को हुआ है और भारत अपने 3 और मुकाबले जीतकर सेमीफाइनल में पहुंच जाएगा.

अगर बांग्लादेश ये मैच जीत जाता तो भारत को इसका नुकसान होता, क्योंकि बांग्लादेश ने अपना पहला मैच बड़े अंतर से जीता था और वो पॉइंट टेबल में टॉप पर बना हुआ था. ऐसे में साउथ अफ्रीका की जीत का फायदा सीधे तौर पर भारत को मिला है और अब भारतीय टीम अपने ग्रुप को टॉप कर सकती है.

ALSO READ: टी20 विश्व कप खेल रहे ये 3 खिलाड़ी अगर कप्तान नहीं होते तो नहीं मिलती प्लेइंग इलेवन में जगह