RISHABH PANT AND DINESH KARTHIK

टी-ट्वेंटी विश्व कप और एशिया कप में भारत ने विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक को प्रमुखता से जगह दी. लेकिन दोनों खिलाड़ियों ने इस मौके का इस्तेमाल नही किया. टी-ट्वेंटी विश्व कप में दिनेश कार्तिक को चार मैचों में मौका मिला और ऋषभ पंत को दो मैचों में मौका मिला.

इन दोनों खिलाड़ियों ने मिलकर एक विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर 6 मैचों में 50 रन भी टीम के खाते में नही जोड़ा. इस लेख में हम बात करेंगे एक ऐसे भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज की जो अकेले दम पर मैच जीताने का दम रखता है.

कार्तिक और पंत दोनों रहे फेल

टी-ट्वेंटी विश्व कप में भारत का पहला मैच पाकिस्तान से था. इस मैच में दिनेश कार्तिक भारत के तरफ से एक विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर खेल रहे थे. भारत को 2 गेंदो में एक रन की जरूरत थी, लेकिन कार्तिक भारत के लिए एक रन भी नही बना पाए और आउट होकर पवेलियन लौट गए. इसके बाद नीदरलैंड्स के खिलाफ उनको बल्लेबाजी करने का मौका नही मिला.

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उन्होंने 6 रन बनाया और बंग्लादेश के खिलाफ उनके बल्ले से 7 रन निकला. कुल मिलाकर दिनेश कार्तिक ने 4 मैचों की तीन पारी में सिर्फ 14 रन ही बनाया.

दूसरी तरफ से दो मैचों में दिनेश कार्तिक के जगह ऋषभ पंत को मौका मिला. ऋषभ पंत ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 3 रनों की पारी खेली और इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में 6 रन बनाकर रन आउट हो गए. यानी हमारे विकेटकीपर बल्लेबाजों ने टी-ट्वेंटी विश्व कप के 6 मैचों में सिर्फ 23 रन बनाया.

ALSO READ:ICC T20 WC चैम्पियन इंग्लैंड को मिले लगभग 13 करोड़ रुपये, भारतीय टीम पर भी हुई पैसों की बारिश

यह खिलाड़ी ले सकता है जगह

जो खिलाड़ी दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत की जगह ले सकता है वह हैं संजू सैमसन. सैमसन, रोहित शर्मा के जैसे टाइमिंग से शाॅट लगाते हैं. वह आईपीएल में राजस्थान रायल्स के कप्तान भी हैं.

संजू सैमसन ने अभी तक भारत के लिए 9 एकदिवसीय मैच खेला है, जिसमें उन्होंने 294 रन बनाए हैं, वहीं सैमसन ने 16 टी-ट्वेंटी मैचों में 296 रन बनाए हैं. संजू सैमसन बड़े आसानी से छक्के लगाते हैं.

ALSO READ: ऑस्ट्रेलिया की टीम को लगा बड़ा झटका, इस दिग्गज खिलाड़ी का पैर टूटा, लंबे समय के लिए क्रिकेट से हुआ बाहर