KEVIN PITERSON ECB

2019 में वर्ल्ड कप का खिताब जीतने वाली इंग्लैंड की टीम वनडे विश्व कप 2023 की सबसे फिसड्डी टीम बन गई है। 6 में 5 मैच जीतने वाली टीम प्वॉइंट्स टेबल में 10वें नंबर पर बनी हुई है। अभी इंग्लैंड को 3 मैच खेलने हैं लेकिन टीम का सेमीफाइनल में पहुंचना लगभग नामुमकिन माना जा रहा है। गत चैंपियन की ऐसी हालत पर पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन ने रिएक्ट किया है।

चैंपियंस ट्रॉफी 2025 के लिए क्वालीफाई करने पर मंडरा रहा संकट

बता दें कि वनडे विश्व कप 2023 में इंग्लैंड को सिर्फ 1 मैच में जीत मिली है। भारत ने हाल ही में इस टीम को 100 रनों के बड़े अंतर से मात दी थी।

इस टूर्नामेंट में इंग्लैंड के बल्लेबाज और गेंदबाज पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए हैं। इंग्लैंड के इस हाल ने उसके 2025 में होने वाले चैंपियंस ट्रॉफी में भी क्वालीफाई करने पर संशय खड़े कर दिए हैं।

दरअसल, आईसीसी के नियमों के अनुसार 2025 चैंपियंस ट्रॉफी में विश्व कप 2023 में टॉप 7 में रहने वाली टीमें सीधे तौर पर क्वालीफाई करने में कामयाब होंगी। वहीं, जोस बटलर की अगुवाई वाली टीम फिलहाल 10वें नंबर पर है। इंग्लैंड को हर हाल में अपने अगले तीनों मैच जीतने होंगे।

पीटरसन ने इस खिलाड़ी को ठहराया हार का जिम्मेदार

इंग्लैंड क्रिकेट टीम की खराब हालत पर केविन पीटरसन का एक बयान सामने आया है। पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर का मानना है कि डेविड मलान को टीम में शामिल करना गलत फैसला था। वहीं, कप्तान बटलर को टॉप ऑर्डर पर बल्लेबाजी करने आना चाहिए था।

केविन पीटरसन ने कहा कि,

“जब मुझसे पूछा गया कि मैं इंग्लैंड की टीम से किसे बाहर करूंगा तो मैंने कहा था कि ब्रुक को टीम में होना चाहिए था, मैंने कहा था डेविड मलान को बाहर रखना था। मैं आज भी अपने इस कथन पर खड़ा हूं। बटलर को टॉप ऑर्डर पर बल्लेबाजी करने आना चाहिए। डेविड मलान को नहीं खेलना चाहिए और ब्रूक को हर मैच में होना चाहिए।”

ALSO READ: ODI World Cup 2023: पाकिस्तान और अफगानिस्तान अभी भी बना सकते हैं सेमीफाइनल में जगह, देखें सभी 10 टीमों के क्या बन रहे समीकरण