विराट कोहली के शतक के बाद भी नाखुश हैं गौतम गंभीर, कहा कोई दूसरा होता तो अब तक टीम से बाहर होता
विराट कोहली के शतक के बाद भी नाखुश हैं गौतम गंभीर, कहा कोई दूसरा होता तो अब तक टीम से बाहर होता

एशिया कप (Asia Cup 2022) में भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के बल्लेबाज विराट कोहली (Virat Kohli) ने 1020 दिन के लंबे इंतजार के बाद शतक बनाया। टी20 फॉर्मेट में किंग कोहली का ये पहला शतक है। अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाफ शतक बनाते ही कई लोगों ने अपने और बदल लिए, जिसमें पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर भी शामिल हैं। गौतम गंभीर ने अपने बयान से यू टर्न किया और कहा कि विराट कोहली को नंबर तीन पर ही बल्लेबाजी करनी चाहिए।

गौतम गंभीर ने कहा था नंबर 3 पर सूर्यकुमार यादव को करनी चाहिए बल्लेबाजी

भारतीय क्रिकेट टीम के ग्रुप स्टेज मैच में हांग कांग के खिलाफ जब सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) ने 68 रन की धमाकेदार पारी खेली थी। तब गौतम गंभीर ने कहा था कि सूर्यकुमार यादव को नंबर 3 पर बल्लेबाजी करनी चाहिए। स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत में गौतम गंभीर ने कहा कि सूर्यकुमार यादव को नंबर तीन पर बल्लेबाजी करनी चाहिए।

गौतम गंभीर ये कह ही रहे थे कि सूर्यकुमार यादव पीछे से आ गए। जिसके बाद गौतम गंभीर ने तुरंत मौजूदा टीवी प्रजेंटर जतिन सप्रू से कहा कि इन्हें बता दो कि इनको नंबर तीन पर बल्लेबाजी करनी चाहिए। फिर क्या था जतिन सप्रू ने बिना देर सूर्यकुमार यादव से कहा वह किस बैटिंग ऑर्डर पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हैं? लेकिन जतिन सप्रू के ऐसा कहते ही पीछे से गौतम गंभीर ने कहा ये उसकी मजबूरी है।

ALSO READ: Asia Cup 2022, IND vs AFG, STATS: मैच में बने 21 ऐतिहासिक रिकॉर्ड, विराट कोहली ने लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी, ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज बने

गौतम गंभीर ने बदले अपने सुर

अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाफ विराट कोहली (Virat Kohli) के शतक के बाद गौतम गंभीर ने कहा

“मैंने पहले सूर्यकुमार यादव की फॉर्म को देखते हुए कहा था कि उन्हें नंबर 3 पर बल्लेबाजी करनी चाहिए, लेकिन आज रात विराट कोहली ने जिस तरह से खेला है, उसे देखते हुए कोहली को नंबर 3 पर और सूर्या को नंबर 4 पर बल्लेबाजी करनी चाहिए”।

आगे गौतम गंभीर ने कहा

“देखो ! उसे यह महसूस करना होगा कि 3 साल हो गए हैं, सिर्फ 3 महीने नहीं। 3 साल बहुत लंबा समय है। मैं उसकी आलोचना नहीं करने जा रहा हूं, लेकिन उसने यह समर्थन अर्जित किया है, क्योंकि उसने अतीत में कई रन बनाए हैं। मुझे नहीं लगता कि कोई भी युवा खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट अगर तीन साल तक शतक नहीं लगाता तो वह टिका रहता। यह अंततः होना ही था और यह सही समय पर हुआ है, लेकिन निष्पक्ष रहें, मुझे ऐसा नहीं लगता कि कोई भी इतने लंबे समय टिका रहेगा”।

ALSO READ: IND vs ENG: ‘शट अप एंड बैट’ इस खिलाड़ी को बीच मैच में अंपायर ने जमकर लताड़ा, वायरल हुआ वीडियो