YUZVENDRA CHAHAL WC 23

वनडे विश्व कप के लिए भारतीय टीम मैनेजमेंट ने जब भारतीय टीम का ऐलान किया था तब मैनेजमेंट की एक बात को लेकर खूब आलोचना हुई थी. मुद्दा था कि आखिर स्क्वॉड में लेग स्पिनर यजुवेंद्र चहल को क्यों नही शामिल किया गया है. मैनेजमेंट का कहना था कि हम विश्व कप में सिर्फ एक रिस्ट स्पिनर के साथ प्रवेश करेंगे और चहल आउट ऑफ फॉर्म भी चल रहे हैं. लेकिन सैयद मुश्ताक अली ट्राॅफी के दौरान बेहतर प्रदर्शन करके चहल ने चयनकर्ताओं को करारा जवाब दिया है.

सैयद मुश्ताक अली ट्राॅफी में चमके चहल

भारत में घरेलू क्रिकेट सर्किट में इस बात सैयद मुश्ताक अली ट्राॅफी खेला जा रहा है. इस ट्राॅफी में चतुर चालाक चहल भी भाग ले रहे हैं. युजवेंद्र चहल ने अब तक इस टूर्नामेंट में 6 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 11 की औसत से 10 विकेट अपने नाम किए हैं.

युजवेंद्र चहल ने सैयद मुश्ताक अली ट्राॅफी के एक मैच में 4 विकेट भी चटकाए थे. युजवेंद्र चहल अगर इस तरह से बेहतर प्रदर्शन करते रहे तो चयनकर्ताओं को मजबूरी में उनको भारतीय स्क्वॉड का हिस्सा बनाना पड़ेगा.

कुलदीप यादव ने मारी थी बाजी

युजवेंद्र चहल के बहुत करीबी दोस्त कुलदीप यादव इस वक्त भारत के प्राइम स्पिनर हैं. कुलदीप यादव को एशिया कप और बाद में विश्व कप में जगह दी गई थी. कुलदीप यादव भारत के लिए लगभग हर मैच खेल रहे हैं.

कुलदीप ने अब तक भारत के लिए 95 वनडे खेले हैं, जिसमें उन्होंने 25 की औसत से 160 रन विकेट चटकाए हैं. वहीं हम अगर यजुवेंद्र चहल की करे तो चहल ने अब तक भारत के लिए 72 मुक़ाबले खेले हैं जिसमें उन्होंने 27 की औसत से 121 विकेट प्राप्त किए हैं.

कुलदीप यादव चहल ने बहुत सफल हैं लेकिन चहल में भी पर्याप्त क्षमता है, जिससे वह एक बार फिर से इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी कर सके. चहल इससे पहले काउंट क्रिकेट खेल कर आ चुके हैं.

ALSO READ: बांग्लादेश समेत ये 3 टीमें हुईं आईसीसी विश्व कप 2023 से बाहर, कप्तान शाकिब अल हसन ने कही ये बात