ये तीन जर्सी भी हो चुकीं हैं रिटायर अब चाहकर भी कोई क्रिकेटर नहीं पहन सकता इस नंबर की जर्सी
ये तीन जर्सी भी हो चुकीं हैं रिटायर अब चाहकर भी कोई क्रिकेटर नहीं पहन सकता इस नंबर की जर्सी

विश्वभर में हर खिलाड़ी अपने नाम की जर्सी के साथ जर्सी के नंबर के साथ पहनते हैं। खिलाड़ी की जर्सी का नंबर खिलाड़ी की एक पहचाना बन जाता है। टीम इंडिया के लिए सात नंबर महेंद्र सिंह धोनी और 18 नंबर विराट कोहली के लिए जाना जाता है। लेकिन खिलाड़ियों के रिटायर होने के बाद इन जर्सी के नंबर को दूसरे खिलाड़ियों को दे दिया जाता है। लेकिन आज हम आपको इन नंबर के बारे में बताने जा रन हैं। जोकि कभी भी रिटायर नहीं होंगी।

फिल ह्यूज

2014 में फिल ह्यूज ने गेंद लगने के कारण मैदान पर ही दम तोड दिया था। वो 64 नंबर की जर्सी पहनते थे। लेकिन खिलाड़ी की मौत के बाद उनके नंबर की जर्सी को भी रिटायर कर दिया गया।

फिल ह्यूज के सम्मान में ऑस्ट्रेलिया का कोई अन्य खिलाड़ी इस जर्सी को नही पहन सकता है। बता दें, रिटायर जर्सी वो जर्सी होती है जोकि किसी खिलाड़ी के काफी पसंद किए जाने के बाद उनके सम्मान में रिटायर कर दी जाती है।

Also Read : एशिया कप से पहले भारत के लिए आई बुरी खबर, रोहित शर्मा का मैच विनर एशिया कप के बाद टी20 विश्व कप से भी हुआ बाहर!

पारस खड़का

नेपाल के खिलाड़ी पारस खड़का 2021 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं। पारस खड़का 77 नंबर की जर्सी पहनते थे। लेकिन उनके रिटायरमेंट के बाद नेपाल क्रिकेट बोर्ड ने इस जर्सी को रिटायर कर दिया।

यानी कि अब नेपाल का कोई भी खिलाड़ी इस जर्सी को दोबारा नहीं पहन सकता है। पारस खड़का के सम्मान में इस जर्सी को भी रिटायरमेंट दे दो गई।

सचिन तेंदुलकर

जर्सी रिटायरमेंट में तीसरा नाम सचिन तेंदुलकर का है। सचिन तेंदुलकर जिन्हें 100 शतक बनाकर कई अन्य उपलब्धि हासिल करने के बाद क्रिकेट का भगवान माना जाता है। सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न सम्मान भी मिल चुका है।

सचिन तेंदुलकर 10 नंबर की जर्सी पहनते थे, उनकी जर्सी को पहनकर एक बार ऑल राउंडर शार्दुल ठाकुर मैदान पर उतरे थे,  जिसके कारण शार्दुल ठाकुर और बीसीसीआई की काफी आलोचना हुई थी। इसके बाद बीसीसीआई अब इस जर्सी को किसी और खिलाड़ी को नहीं देती है।

Also Read : Asia Cup 2022: भारत और पाकिस्तान 3 महीने में 3 बार होंगे आमने सामने, रोहित शर्मा के पास है टी20 विश्व कप का बदला लेने का मौका