MOHAMMED AAMIR ON BABAR AZAM

पाकिस्तान की टीम आईसीसी विश्व कप 2023 से बाहर होकर स्वदेश लौट चुकी है. पाकिस्तान की टीम के साथ ऐसा पहली बार नहीं हुआ है. यह लगातार चौथा विश्व कप है, जब पाकिस्तान की टीम आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह बनाने से चूक गई है. हालांकि इस साल पाकिस्तान का प्रदर्शन बेहद शर्मनाक रहा है और पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम की कप्तानी पर सवाल भी उठे हैं.

आईसीसी विश्व कप 2023 में पाकिस्तान को लगातार 4 मैचों में हार का सामना करना पड़ा. ये विश्व कप के इतिहास में ऐसा पहला मौका था, जब पाकिस्तान ने इतना शर्मनाक प्रदर्शन किया हो, जिसके वजह से पाकिस्तान के कई दिग्गज खिलाड़ी अपने ही टीम की आलोचना करने में लगे हैं.

मोहम्मद आमिर ने लगाई बाबर आजम की क्लास

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज रहे मोहम्मद आमिर ने बाबर आजम की कप्तानी पर सवाल उठाया है और टीम के शर्मनाक प्रदर्शन के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि

“कप्तानी जाहिर तौर पर मैटर करती है. सिस्टम क्या होता है? यह कोई दीवार नहीं है.पांच या छह लोगों को पाकिस्तान क्रिकेट को चलाने की जिम्मेदारी दी गई है. इसमें कप्तान भी शामिल है. 1992 में इमरान खान की कप्तानी में हमने वर्ल्ड कप जीता था, तब भी सिस्टम सेम था. 1999 में हमने फाइनल तक का सफर तय किया था. 2009 में हमने इसी सिस्टम के साथ ही टी-20 वर्ल्ड कप जीता था. इसी सिस्टम के अंडर में हमने साल 2017 में चैंपियन ट्रॉफी भी जीती.”

मोहम्मद आमिर ने बाबर आजम के पिछले 4 साल में कप्तानी प्रदर्शन पर बात करते हुए कहा कि

“बाबर आजम पिछले चार साल से कप्तान हैं. उन्होंने अपनी टीम खड़ी की है। बटलर हमारे सिस्टम का हिस्सा नहीं हैं, तो फिर इंग्लैंड इतना खराब क्यों खेली? क्या इंग्लैंड में भी सिस्टम को दुरुस्त करने की जरूरत है? 2015 में खराब प्रदर्शन के बाद मोर्गन ने कहा था कि मैं इस तरह की क्रिकेट खेलना चाहता हूं, मुझे यह 25 खिलाड़ी चाहिए.”

महेंद्र सिंह धोनी से सिखने की दी सलाह

मोहम्मद आमिर ने पाकिस्तान टीम के कप्तान बाबर आजम से मोहम्मद शमी से सीख लेने की सलाह दी, मोहम्मद आमिर ने कहा कि

 “हम कहते हैं कि धोनी ने इंडियन क्रिकेट को बदलकर रख दिया, लेकिन उन्होंने कभी सिस्टम को नहीं बदला. लोग ऐसा कहते रहते थे कि वह कब तक जडेजा और अश्विन को मौका देते रहेंगे और अब हम कहते हैं कि जडेजा वर्ल्ड के बेस्ट ऑलराउंडर हैं. एमएस धोनी ने उनको टीम दी है.”

उन्होंने चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 की जीत को याद करते हुए बाबर आजम के पक्षपात पर बात करते हुए कहा कि

 “सिस्टम तब भी सेम था, वो कप्तान था जिसने अपना माइंडसेट बदला. इंग्लैंड दो साल से टेस्ट क्रिकेट में संघर्ष कर रही थी, जो रूट कप्तान थे. सिस्टम सेम है, लेकिन हम कहते हैं कि इंग्लैंड टीम का टेस्ट क्रिकेट बदल गया है. इसको बदलने वाले बेन स्टोक्स हैं. जब तक कप्तान का माइंडसेट नहीं बदलेगा, तब तक कुछ नहीं बदल सकता. क्या यह सिस्टम था, जिसने फखर जमान को बेंच पर बैठाकर अबरार अहमद को खिलाया?”

ALSO READ: ‘बेटी को घर जाना है यार…’, वामिका की सुरक्षा का ख्‍याल रखते हुए विराट कोहली ने कैमरामैन से की खास गुजारिश