IND vs SA: ऋषभ पंत अब नहीं करेंगे और इंतजार, दूसरे मैच में ही कराएंगे इस घातक खिलाड़ी का डेब्यू, 6 गेंद में पलटता है मैच

टीम इंडिया और साउथ अफ्रीका (IND vs SA) के बीच 5 टी-20 मैचों की सीरीज का आगाज हो गया है और ऋषभ पंत (RISHABH PANT) की कप्तानी में पहला मैच दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में हुआ। इस मैच में भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा। अब टीम अगले मैच में जोरदार वापसी करना चाहेगी। रविवार को भारत और दक्षिण अफ्रीका (IND vs SA) के बीच बाराबती स्टेडियम में सीरीज का दूसरा मैच खेला जाएगा। 

ये गेंदबाज जिता सकता है मैच

टीम इंडिया अब दूसरे मुकाबले को जीतकर बराबरी करना चाहेगी। भारत के कई दिग्गज खिलाड़ी इस सीरीज में नही खेल रहे हैं जिनमे जसप्रीत बुमराह भी शामिल है। लेकिन भारत के पास एक ऐसा खिलाड़ी मौजूद है जो जसप्रीत बुमराह की तरह धाकड़ गेंदबाजी कर सकता है और उनके जैसी यॉर्कर भी फेंक सकता है। 

ये गेंदबाज है पंजाब किंग्स की ओर से खेलने वाले तेज़ गेंदबाज अर्शदीप सिंह। अर्शदीप सिंह भी बुमराह की तरह यॉर्कर स्पेशलिस्ट हैं और डेथ ओवर में कमाल की गेंदबाजी करते हैं। उनके पास वे सारे हथियार है जो एक अच्छे गेंदबाज के पास होने चाहिए। 

IPL 2022 में उन्होंने अपने 13 मैचों में 10 विकेट अपने नाम किए थे। उन्होंने ज्यादा विकेट अपने नाम नही किए लेकिन शानदार 7.31 की इकोनॉमी से गेंदबाज़ी करी। 

ALSO READ:गौतम गंभीर के पांच अहम फैसले जो IPL में साबित हुए मास्टर स्ट्रोक, किसी को ऑलराउंडर बनाया तो किसी को ओपनर

साउथ अफ्रीका की 1-0 से बढ़त

इशान किशन के 76 रन की पारी के दम पर भारत ने 4 विकेट के नुकसान पर 211 रन का स्कोर खड़ा किया। साउथ अफ्रीका ने किलर मिलर और वान डेर डुसेन की अटूट साझेदारी के दम पर टीम ने 19.1 ओवर में जीत का लक्ष्य 3 विकेट गंवाकर हासिल किया। मिलर को उनकी 64 रन की पारी के लिए प्लेयर आफ द मैच चुना गया। पांच मैचो ंकी सीरीज में मेहमान टीम ने (IND vs SA) 1-0 की बढ़त बनाई। 

भारतीय टीम

रूतुराज गायकवाड़, ईशान किशन, दीपक हुड्डा, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, वेंकटेश अय्यर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, रवि बिश्नोई, भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, आवेश खान, अर्शदीप सिंह और उमरान मलिक। 

ALSO READ:IND vs SA: हार्दिक पांड्या ने दिनेश कार्तिक से लिया भाई क्रुणाल पांड्या की ‘बेइज्जती’ का बदला? 3 साल से मन में थी टिस