GAUTAM GAMBHIR AND S SREESHANT

लीजेंड्स लीग क्रिकेट में लाइव मैच के दौरान भारत के दो पूर्व क्रिकेटर्स गौतम गंभीर और श्रीसंत भिड़ गए। बुधवार को सूरत में इस लीग के एलिमिनेटर मैच में गुजरात जाएंट्स और इंडिया कैपिटल्स की टीमें आमने-सामने थीं। जहां गंभीर कैपिटल्स के कप्तान हैं, वहीं श्रीसंत गुजरात के गेंदबाज हैं। इस मैच के दौरान गंभीर और श्रीसंत के बीच जमकर बवाल हुआ।

इतना ही नहीं, मैच के बाद श्रीसंत ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर वीडियो डाल गंभीर पर निशाना साधा है और बड़े खुलासे किए हैं। श्रीसंत का कहना है कि गंभीर के कथित बुरे व्यवहार से वह इतने नाराज हुए कि उन्हें वीडियो पोस्ट करना पड़ा।

लाइव मैच में आपस में भिड़े गौतम गंभीर और श्रीसंत

दरअसल, इस मैच के दौरान गुजरात के कप्तान पार्थिव पटेल ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। इंडिया कैपिटल्स के लिए कर्क एडवर्ड्स और गंभीर ओपनिंग के लिए आए। अपनी 30 गेंद में 51 रन की पारी में कैपिटल्स के कप्तान गंभीर ने श्रीसंत को कुछ चौके लगाए। वीडियो में ऐसा दिख रहा है कि इसके बाद श्रीसंत ने हताशा में गंभीर की ओर देखा और कुछ शब्द कहे।

इसके जवाब में गंभीर ने इस तेज गेंदबाज को घूरकर देखा और इशारा किया। यह विवाद यहीं नहीं रुका। एक फैन ने सोशल मीडिया पर स्टैंड से रिकॉर्ड किया गया एक वीडियो पोस्ट किया जो कि कैपिटल्स के किसी बल्लेबाज के आउट होने के समय का है। उस ब्रेक के दौरान गंभीर और श्रीसंत के बीच फिर से शब्दों का आदान-प्रदान हुआ।

श्रीसंत ने मैच के बाद गौतम गंभीर पर लगाए बड़े आरोप

श्रीसंत इस वीडियो में यह कहते हुए सुनाई पड़ रहे हैं-
“मिस्टर फाइटर के साथ जो कुछ हुआ, उसके बारे में मैं कुछ स्पष्ट करना चाहता था। मिस्टर फाइटर बिना किसी कारण के अपने सभी साथियों से लड़ता है। वह वीरू भाई (वीरेंद्र सहवाग) समेत अपने सीनियर खिलाड़ियों और कई लोगों का सम्मान भी नहीं करते। ठीक ऐसा ही हुआ। बिना किसी उकसावे के वह मुझे कुछ ऐसा कहते रहे जो बहुत असभ्य है। यह बात गौतम गंभीर को कभी नहीं कहनी चाहिए थी।”
श्रीसंत ने कहा कि वह खुलासा करेंगे कि गंभीर ने मैच के दौरान उनसे क्या कहा था। उन्होंने कहा कि शब्दों ने उन्हें और उनके परिवार को आहत किया है। पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा,
‘मेरी कोई गलती नहीं है। देर-सबेर आपको पता चल जाएगा कि उन्होंने जिन शब्दों का इस्तेमाल किया और जो चीजें उन्होंने क्रिकेट के मैदान पर कही, वे स्वीकार्य नहीं हैं। मैंने अपने परिवार के साथ बहुत कुछ झेला है। मैंने आपके समर्थन से अकेले वह लड़ाई लड़ी है। अब कुछ लोग मुझे बिना किसी कारण के नीचा दिखाना चाहते हैं। उन्होंने ऐसी बातें कहीं जो उन्हें नहीं कहनी चाहिए थी।’