rohit sharma on sarfaraz khan
रोहित शर्मा और सरफराज खान

Rohit Sharma on Sarfaraz Khan: भारत और इंग्लैंड (IND vs ENG) के बीच 5 मैचों की टेस्ट सीरीज भारत (Team India) में खेली जा रही है. इस टेस्ट सीरीज के अब तक कुल 3 मैच खेले जा चुके हैं. पहले ही मैच में भारतीय टीम (Indian Cricket Team) को शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा था, जिसके बाद भारतीय टीम ने पलटवार किया और इंग्लैंड को अगले 2 टेस्ट मैचों में मात देकर 2-1 से सीरीज में बढ़त बना ली है.

तीसरे टेस्ट में भारत की जीत में सबसे अहम भूमिका यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने निभाई उन्होंने दूसरी पारी में दोहरा शतक लगाकर भारत को मैच में बहुत आगे कर दिया.

Sarfaraz Khan ने भी अंग्रेजो की नाक में किया दम

इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में भारतीय टीम ने 2 खिलाड़ियों को डेब्यू कराया. इस टेस्ट मैच में भारत के लिए यशस्वी जायसवाल और सरफराज खान (Sarfaraz Khan) ने बैजबॉल अंदाज में बल्लेबाजी कर अंग्रेजो को उन्ही के जाल में उलझा दिया.

इंग्लैंड की टीम जब से ब्रेंडन मैकुलम को अपना कोच बनाई है, तब से वो टेस्ट में बैजबॉल अंदाज में बल्लेबाजी के लिए जानी जाती है, लेकिन जब से इंग्लैंड की टीम भारत दौरे पर है भारतीय खिलाड़ियों के बल्लेबाजी करने का तरीका देखकर इंग्लैंड की टीम बेहद हैरान है.

तीसरे टेस्ट में जीत के बाद भारतीय टीम ने सरफराज खान (Sarfaraz Khan) की तारीफ़ करते हुए कहा कि

 “मैंने सरफराज (Sarfaraz Khan) को उतनी बल्लेबाजी करते नहीं देखा है. लेकिन मैंने जितने भी लोगों से सुना है, उन्होंने मुंबई के लिए कई कठिन परिस्थितियों में रन बनाए हैं.”

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने आगे कहा,

“वह रनों का भूखा है और पिछले 4-5 सालों से वह घरेलू क्रिकेट में लगातार रन बना रहा है, इसका मतलब वह कुछ अच्छा कर रहा है. हमने उनके साथ किसी भी योजना पर चर्चा नहीं की. क्योंकि मैं जानता हूं कि अगर आप उसे रहने देंगे तो वह आपका काम करेगा, जैसा कि मैंने मुंबई के खिलाड़ियों से सुना है.”

Rohit Sharma ने बताया कैसे भारतीय टीम ने पहली पारी में किया कमबैक

रोहित शर्मा (Rohit Sharma on England Team) ने कहा कि इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने पिछले तीन टेस्ट मैचों में अच्छी गेंदों पर भी अपने स्ट्रोक खेले हैं, जिससे भारतीय गेंदबाजों को अपनी लाइन और लेंथ के साथ बहुत अनुशासित होना पड़ा.

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने कहा,

“ओली पोप ने सीरीज की शुरूआती मैच में 190 के करीब रन बनाए, वह काफी नियंत्रण में थे और उन्होंने कुछ अच्छी गेंदों पर शॉट खेले. जब बल्लेबाज ऐसा कर रहा है, तो जाहिर तौर पर योजना को अच्छा और चुस्त बनाए रखना बहुत आसान है. यह महत्वपूर्ण है जिन योजनाओं पर चर्चा की गई है उनका पालन करें. इन लोगों ने इन परिस्थितियों में काफी गेंदबाजी की है, वे अच्छी तरह जानते हैं कि खेल में कैसे वापसी करनी है.”

ALSO READ: भारत की जीत के बाद बदला WTC Points Table, ऑस्ट्रेलिया नहीं बल्कि अब इस टीम से होगा भारत का फाइनल मुकाबला