ROHIT SHARMA

टीम इंडिया में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके प्रदर्शन में उतार-चढ़ाव आते रहते है लेकिन शानदार बात यह है कि रोहित शर्मा (Rohit Sharma) इन बातों का समर्थन करते हैं कि खिलाड़ियों के जीवन में इस तरह के क्षण आते हैं. इसलिए एक या दो मुकाबले से खिलाड़ी के प्रदर्शन को जज नहीं किया जा सकता.

10 नवंबर को इंग्लैंड के साथ सेमीफाइनल मुकाबले से पहले रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान टीम इंडिया के गेंदबाज को लेकर चर्चा की और उन्होंने इस खिलाड़ी का बचाव करते हुए बताया कि एक खराब टूर्नामेंट के कारण हम किसी खिलाड़ी को जज नहीं कर सकते. इसके अलावा उन्होंने सूर्यकुमार यादव को लेकर बहुत बड़ी बात कही.

रोहित शर्मा ने इस गेंदबाज का किया बचाव

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने जिस गेंदबाज का बचाव किया, वह कोई और नहीं अक्षर पटेल है जो बीते कुछ मुकाबले से उस लय में नहीं नजर आ रहे हैं जिसके साथ उन्होंने टी-20 वर्ल्ड कप की शुरुआत की थी जिसका बचाव करते हुए रोहित शर्मा ने कहा कि

“सच कहूं तो मैं अक्षर पटेल को लेकर वास्तव में चिंतित नहीं हूं. उन्होंने ज्यादा ओवर नहीं फेंके हैं. सिडनी को छोड़कर कई मैदानों ने सीमर की सहायता की है. एक खराब टूर्नामेंट हो सकता है, इसका मतलब यह नहीं कि वह अच्छी गेंदबाजी नहीं कर रहा. पावर प्ले में उनकी ताकत अच्छी गेंदबाजी कर रही हैं और मेरे लिए उसके लिए अच्छी जगह पर होना काफी महत्वपूर्ण है.”

सूर्यकुमार यादव की जमकर की तारीफ

इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के 360 डिग्री कहलाने वाले सूर्यकुमार यादव ने काफी कमाल दिखाया. जिन्होंने उस मौके पर अपना शानदार कारनामा किया जबकि टीम को इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी. रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने सूर्या के बारे में रोहित शर्मा ने कहा कि

“इस खिलाड़ी ने अपनी जिम्मेदारी को समझा है. उन्होंने काफी परिपक्वता दिखाई है और यह उनके साथ बल्लेबाजी करने वाले अन्य खिलाड़ियों पर भी असर करता है.”

आपको बता दें कि सूर्यकुमार यादव इस वक्त जिस तरह का खेल दिखा रहे हैं, अगर वही प्रदर्शन आगे जारी रहा तो टीम इंडिया के लिए यह फायदे की बात हो सकती है.

ALSO READ: टी20 वर्ल्ड कप में बेंच गर्म कर रहे इन 3 खिलाड़ियों को रोहित शर्मा इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में दे सकते हैं मौका

खिताब जीतने से बस कुछ कदम दूर है भारत

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की अगुवाई वाली ब्लू आर्मी इस वक्त खिताब जीतने की प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं जहां खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन से इस बार यह सपना सच हो सकता है.

दरअसल भारत ने साल 2007 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अपना एकमात्र खिताब जीता था तब से लगातार 15 साल से भारतीय खिलाड़ी और भारतीय फैंस ट्रॉफी का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन इस वक्त रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की अगुवाई में टीम इंडिया सेमीफाइनल तक पहुंच चुकी है और उम्मीद है कि खिलाड़ी इस बार सालों का सूखा खत्म करेंगे.

ALSO READ: बुरी खबर! भारत-इंग्लैंड मैच से पहले आई बुरी खबर, इन 2 धाकड़ खिलाड़ियों का खेलना मुश्किल