Ravi Shastri on ms dhoni and virat kohli
रवि शास्त्री, विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी

Ravi Shastri: बॉर्डर गवास्कर ट्रॉफी 2014 के दौरान अचानक महेंद्र सिंह धोनी (MS DHONI) ने भारतीय टेस्ट टीम (Team India) की कप्तानी छोड़ी साथ ही संन्यास ले लिया और विराट कोहली (Virat Kohli) को टीम का कप्तान बना दिया गया था, इसके बाद अचानक उन्होंने वनडे और टी20 टीम की कप्तानी से भी इस्तीफा दे दिया और विराट कोहली को सभी फ़ॉर्मेट की कप्तानी सौंप दी गई थी. उस दौरान तो ये पता नहीं चल सका था ऐसा क्यों किया गया, लेकिन अब रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने इसे लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

MS DHONI और Virat Kohli पर Ravi Shastri ने किया ये खुलासा

भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी को लेकर एक दिलचस्प खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि वह धोनी की कप्तानी के दौरान ही कोहली में छिपी नेतृत्व क्षमता पहचान ली थी, रवि शास्त्री (Ravi Shastri) यह मानते थे कि कोहली एक ऐसा रत्न है जिसे निखारा जाना बाकी है.

भारतीय टीम के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने अपने कार्यकाल के दौरान महान महेंद्र सिंह धोनी से लेकर विराट कोहली तक की कप्तानी परिवर्तन पर अपने विचार साझा किए. रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने खुलासा किया कि

“मैंने विराट कोहली की नेतृत्व क्षमता को शुरू से ही पहचान लिया था, वो एक ऐसा रत्न था, जिसे अभी निखारा जाना बाकी था. मेरा दृढ़ विश्वास था कि धोनी के कप्तानी छोड़ने के बाद कोहली भारत का नेतृत्व करने के लिए आदर्श उम्मीदवार हैं.”

2014 में Ravi Shastri ने कही थी Virat Kohli से ये बात

रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने द टाइम्स से बातचीत करते हुए कहा,

“व्यक्तिगत प्रतिभा बहुत थी, लेकिन मैं टीम की प्रतिभा देखना चाहता था. मैं जीतना चाहता था और टेस्ट क्रिकेट को सर्वोपरि बनाना चाहता था और मैंने विराट कोहली में एक अनगढ़ हीरे की पहचान की, जबकि (एमएस) धोनी मेरे कप्तान थे, मेरी नजर कोहली पर थी. मैंने उनसे अपने दूसरे महीने की शुरुआत में ही कहा था, इसमें समय लगेगा, लेकिन देखो, निरीक्षण करो, (कप्तानी के लिए) तैयार रहो.”

ALSO READ: Lucknow Super Giants ने ढूढ़ निकाला Mark Wood का रिप्लेसमेंट, वेस्टइंडीज के घातक गेंदबाज को 3 करोड़ में टीम में किया शामिल