'IPL में उसको खेलने से कोई नही रोक सकता, वहां उसकी बहुत डिमांड होगी’, पैट कमिंस इस खिलाड़ी को लेकर किया दावा
'IPL में उसको खेलने से कोई नही रोक सकता, वहां उसकी बहुत डिमांड होगी’, पैट कमिंस इस खिलाड़ी को लेकर किया दावा

IPL में हर साल विदेशी खिलाड़ियों का बोल बाला रहता है। कई फ्रेंचाइजी विदेशी खिलाड़ियों को खरीदने के लिए ऊंची ऊंची बोली लगाती हैं। इस टूर्नामेंट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी हर साल खेलते हैं और उनकी डिमांड भी हर साल रहती है। अब अगले साल से एक और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को लेके ऊंची बोली लगने वाली है, ऐसा ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान पैट कमिंस का मानना है। 

बेहद खतरनाक खिलाड़ी हैं कैमरन ग्रीन

ऑस्ट्रेलिया टेस्ट टीम के कप्तान पैट कमिंस ने यह बात कही है कि कैमरन ग्रीन आईपीएल ही नही बल्कि जिस भी लीग में खेलेंगे उनकी डिमांड बहुत होगी। कैमरन ग्रीन ने हाल ही में इंडिया के खिलाफ तीनों मुकाबलों की टी-20 सीरीज खेली थी और उसमें उन्होंने डेविड वार्नर की जगह ओपनिंग करते हुए कमाल का प्रदर्शन किया था। 

पहले मैच में उन्होंने 30 गेंदों में 61 रन बनाए, वहीं तीसरे और अंतिम मुकाबले में उन्होंने 21 गेंदों में 52 रन की धमाकेदार पारी खेली। गेंदबाजी से भी उन्होंने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। इससे पहले वह सिर्फ टेस्ट मैच खेलते आए थे पर उन्होंने साबित किया वह टी20 में भी काफी खतरनाक हो सकते हैं। 

ALSO READ:IND vs SA: चोटिल जसप्रीत बुमराह हुए टीम इंडिया से बाहर, 7 महीने से बाहर बैठे इस खिलाड़ी को BCCI ने दी जगह

ग्रीन का वर्कलोड मैनेज करना है जरूरी

पैट कमिंस ने बताया की अब ग्रीन तीनों फॉर्मेट खेलने वाले हैं और ऐसे में उनका वर्ल्पड मैनेज करना बेहद जरूरी है। कमिंस ने मीडिया से कहा,

“जब भी मैं उससे गेंदबाजी कराता हूं तो यह मेरा पहला विचार होता है कि हम उसे थकाना नहीं चाहते। सोचें कि पिछले कुछ वर्षों में जितना क्रिकेट उसने खेला है, उतना क्रिकेट खेलने के लिए मेडिकल टीम को बड़ा श्रेय देने की जरूरत है। सौभाग्य से वह सिर्फ बल्लेबाजी के दम पर भी टीम में खेल सकते है, यदि वह गेंदबाजी नहीं कर रहा हो।”

कमिंस ने संवाददाताओं से आगे कहा,

“अब वह तीन प्रारूपों में है और यह और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। वह कोई है जो खेलना पसंद करता है, यहां तक ​​​​कि जब वह वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया में वापस जाता है तो हमें इसे भी मैनेज करना होता है। अगले कुछ महीनों में 15 टेस्ट और विश्व कप, बहुत सारा क्रिकेट खेलना है।”

कमिंस ने कहा कि ग्रीन को आईपीएल में खेलने से कोई नहीं रोक सकता है लेकिन यह सुनिश्चित करने के लिए संतुलन बनाना होगा कि खिलाड़ी को बर्न-आउट का सामना न करना पड़े। कमिंस ने कहा, 

“आप [आईपीएल] में जाने के लिए वास्तव में किसी को दोष नहीं दे सकते। वह जहां भी खेलता है, उस पर उसकी भारी मांग होने वाली है। निर्णय किए जाएंगे, आगे ओर बहुत क्रिकेट खेलना है।”

ALSO READ:IND vs SA: चोटिल जसप्रीत बुमराह हुए टीम इंडिया से बाहर, 7 महीने से बाहर बैठे इस खिलाड़ी को BCCI ने दी जगह