muttiah muralitharan

भारत और ऑस्ट्रेलिया (IND vs AUS) के बीच 5 मैचों की टी20 सीरीज खेली जा रही है. इस सीरीज में टीम इंडिया (Team India) का एक युवा स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) की नजरों में आ गया और इस दिग्गज ने जमकर तारीफ की है. इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाला यह दिग्गज रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) की गेंदबाजी का कायल हो गया है. बता दें कि रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) मौजूदा सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं.

मुथैया मुरलीधरन इस भारतीय गेंदबाज के हुए कायल

श्रीलंकाई दिग्गज स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) ने रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) की गेंदबाजी की जमकर तारीफ की. इसके साथ ही उन्होंने यही भी माना कि भारत के पास हमेशा अच्छे स्पिन गेंदबाज रहे हैं.

मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) ने कहा,

‘भारत में हमेशा हर पीढ़ी में स्पिन का अच्छा सेट रहा है. आप अनिल (कुंबले) से लेकर (रवि) अश्विन तक देख सकते हैं. अब आए युवा गेंदबाजों पर भी नजर डाल सकते हैं. बिश्नोई को लेकर उन्होंने कहा, ‘वह बाकी सभी लेग स्पिनरों से अलग हैं. वह तेज गेंदबाजी करते हैं और गेंद को काफी स्लाइड भी कराते हैं.’

मुथैया मुरलीधरन ने वॉशिंगटन सुंदर और अक्षर पटेल को लेकर दी ये सलाह

मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) ने सिर्फ रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) ही नहीं बल्कि अक्षर पटेल (Axar Patel) और वॉशिंगटन सुंदर (Washington Sundar) की भी तारीफ की है. मुथैया मुरलीधरन ने कहा,

‘अक्षर भी बहुत सटीक गेंदबाजी करता है. वह गेंद को ज्यादा घुमाने वाले गेंदबाज नहीं है. वॉशी भी ऐसा ही है, क्योंकि वह ज्यादा टर्न नहीं करता है और बहुत सटीक और काफी तेज गेंदें फेंकता है.’

बता दें कि चौथे टी20I में चार ओवरों में सिर्फ 16 रन देकर 3 विकेट लेकर अक्षर ने प्लेयर ऑफ द मैच का अवॉर्ड जीता था.

मुथैया मुरलीधरन ने युवा भारतीय गेंदबाजों को दिया ये सलाह

मुथैया मुरलीधरन से यह पूछे जाने पर कि वह युवा स्पिनरों को क्या सलाह देंगे. उन्होंने कहा,

‘विपक्षी बल्लेबाजों को मात देना महत्वपूर्ण है. मुझे लगता है कि गेंदबाज के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि वह किसी की फील्ड में गेंदबाजी करे. एक फील्ड लगाएं और उस फील्ड पर ही गेंदबाजी करें. बल्लेबाज का मजबूत पक्ष भी देखना जरूरी है.’

ALSO READ: IND vs AUS: कोच और कप्तान को नजरअंदाज कर रवि बिश्नोई ने इन्हें दिया मैन ऑफ द सीरीज बनने का पूरा श्रेय