GAUTAM GAMBHIR ON SKY

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आईसीसी विश्व कप 2023 का फाइनल मुकाबला नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला गया था. जहां भारतीय टीम को 5 बार की विश्व विजेता ऑस्ट्रेलिया के सामने शिकस्त का सामना करना पड़ा था. भारत इस मैच से पहले लगातार 10 मैचों में जीत हासिल कर चूका था, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने भारत को अंतिम मैच में एकतरफा मुकाबले में शिकस्त देने में सफल रहा.

दिग्गज भारतीय खिलाड़ी बता रहे भारत के हार की वजह

भारत के हार की वजह को अलग-अलग दिग्गज खिलाड़ी अपने तरीके से बयाँ कर रहे हैं. वीरेंद्र सहवाग और सुनील गावस्कर ने विराट कोहली और केएल राहुल के बीच हुई धीमी साझेदारी को भारत के हार का कारण बताया, तो हरभजन सिंह ने नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच को ही भारत के लिए काल बता दिया.

अब पूर्व भारतीय दिग्गज गौतम गंभीर और पाकिस्तान के तेज गेंदबाज रहे वसीम अकरम ने भी भारत के हार पर अपना मत रखा है. वसीम अकरम और गौतम गंभीर ने कप्तान रोहित शर्मा की कप्तानी और सूर्यकुमार यादव के बल्लेबाजी क्रम को भारत के हार की वजह बताया है.

गौतम गंभीर ने कही ये बात

गौतम गंभीर ने कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ की तकनीकी पर सवाल उठाते हुए कहा कि

 “मुझे समझ नहीं आया कि जडेजा को सूर्यकुमार यादव से ऊपर क्यों भेजा गया. क्यों सूर्या को नंबर सात पर डिमोट किया गया? मेरे हिसाब से यह फैसला एकदम सही नहीं था.”

वहीं वसीम अकरम ने भी कोच राहुल द्रविड़ और रोहित शर्मा के इस फैसले को बकवास बताते हुए कहा कि

 “मेरा मतलब यह है कि वह टीम में बतौर बल्लेबाज खेल रहे थे. मैं इस मूव तो तब समझ सकता था, जब टीम में हार्दिक पांड्या मौजूद होते.”

गौतम गंभीर ने कहा अगर 6 नंबर पर आते सूर्या तो कुछ और होता परिणाम

गौतम गंभीर ने आगे कहा कि अगर सूर्या को फाइनल मैच में नंबर छह पर भेजा गया होता, तो शायद चीजें कुछ और होतीं. उन्होंने कहा,

“आप सोचिए कि अगर केएल राहुल इस टेम्परामेंट के साथ कोहली के साथ खेल रहे होते, तब सूर्यकुमार को ऊपर भेजकर अटैकिंग क्रिकेट खेलने का फैसला समझ आता, क्योंकि तब आपके पास पीछे जडेजा मौजूद थे.”

उन्होंने आगे कहा कि

 “एक एक्सपर्ट के लिए यह कहना बेहद आसान है कि सूर्यकुमार संघर्ष कर रहे थे, लेकिन प्लेयर का माइंडसेट होता है कि अगर वह आउट हो गए, तो अगले बल्लेबाज मोहम्मद शमी, बुमराह और सिराज होंगे. हालांकि, अगर सूर्या को यह पता होता कि अगले बल्लेबाज के रूप में जडेजा आएंगे, तो उनका माइंडसेट कुछ और होता.”

ALSO READ: “मै पहले भी….” ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच जीताने के बाद रिंकू सिंह ने भरी हुंकार, बताया कैसे खेली दबाव भरी पारी