yuvraj dhoni 1 - 1

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और स्टार ऑलराउंडर रहे युवराज सिंह की रिलेशनशिप को लेकर हर कोई अलग अंदाजा लगाता है। लेकिन दोनों के बीच कितनी दोस्ती है, कैसे संबंध हैं इसका पता लगा पाना मुश्किल है। अब युवराज सिंह ने खुद पूर्व कप्तान के साथ अपने रिश्ते को लेकर बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने बताया है कि उनके और धोनी के बीच गहरी दोस्ती नहीं थी।

‘हम दोस्त नहीं थे…’

बता दें कि पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर अक्सर युवराज सिंह से कप्तानी छीनने का आरोप लगता रहा है। कहा जाता है कि 2007 में टीम मैनेजमेंट युवराज सिंह को कप्तान बनाना चाहता था लेकिन अचानक से धोनी को कप्तानी सौंप दी गई थी। इसने नए विवाद को जन्म दे दिया था। अब युवराज सिंह ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ अपने संबंधों को लेकर बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा है कि हमारे बीच कोई दोस्ती नहीं थी।

युवी ने कहा कि,

“हम करीबी दोस्त नहीं थे.. हम दोस्त थे क्योंकि क्रिकेट के कारण,  मैं उससे बिलकुल अलग था। हम यकीनन दोस्त नहीं थे,  जब हम साथ में मैदान पर होते थे तो दोनों मिलकर 100% देते थे.. वह कप्तान था मैं उपकप्तान था। कुछ फैसले जो वो लेता था वो मुझे ठीक नहीं लगते थे, तो कुछ मेरा फैसला उसे पसंद नहीं आता था। ये हर टीम के साथ होता है..टीम को आगे ले जाने के लिए ऐसी बातें होते रहती है।”

2019 में क्यों लिया था संन्यास?

मालूम हो कि साल 2019 में युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया था। उन्हें विश्व कप के लिए टीम का हिस्सा नहीं बनाया गया था। इसके बाद उन्होंने रिटायरमेंट अनाउंस कर दी थी। अब युवी ने बताया कि धोनी ने उन्हें पहले ही बता दिया था कि टीम मैनेजमेंट उन्हें टीम में शामिल नहीं करना चाहता है।

युवी ने आगे कहा कि,

“जब मैं अपने करियर के आखिरी दौर में था तो मैंने उससे अपने करियर को लेकर पूछा था। वह समय 2019 के वर्ल्ड कप के पहले का था। तब माही ने मुझे सीधे तौर पर बता दिया था कि मैनेजमेंट आपके बारे में नहीं सोच रहा है। धोनी ही ऐसे थे जिन्होंने मुझे साफ-साफ बता दिया था। उसकी यह बात मुझे अच्छी लगी, तब फिर मैंने रिटायरमेंट का फैसला किया था।”

ALSO READ: भारत ने टॉस जीतकर किया पहले बल्लेबाजी का फैसला, कप्तान रोहित शर्मा ने इन 4 खिलाड़ियों को किया प्लेइंग 11 से बाहर