SURYAKUMAR YADAV AND ISHAN KISHAN POST MATCH

आईसीसी विश्व कप 2023 में मिली शर्मनाक हार के बाद  भारतीय टीम के पास ऑस्ट्रेलिया से विश्व कप हार का बदला लेने का मौका था. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 मैचों की टी20 सीरीज का पहला टी20 मैच आज विशाखापत्तनम में खेला गया. जहां टॉस जीतकर भारतीय कप्तान सूर्यकुमार यादव ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 208 रन बनाया, जिसे भारत ने अंतिम गेंद पर 2 विकेट शेष रहते हासिल कर लिया.

सूर्यकुमार यादव ने बताया क्या हुई थी ईशान किशन के साथ बातचीत

भारत को पहले 2 झटके जल्दी ही लग गये थे. ऋतुराज गायकवाड़ बिना कोई गेंद खेले ही यशस्वी जायसवाल की गलती की वजह से पहले ओवर में ही अपना विकेट गंवा चुके थे. इसके बाद यशस्वी जायसवाल भी ज्यादा देर तक मैदान पर टिक नहीं सके. यशस्वी जायसवाल ने 8 गेंदों में 21 रनों की पारी खेल अपना विकेट देकर चलते बने.

22 रनों पर ही भारत को 2 झटके लग चुके थे और मैदान पर  ईशान किशन और सूर्यकुमार यादव मौजूद थे. इसके बाद दोनों ही बल्लेबाजों ने एक रणनीति बनाई और तीसरे विकेट के लिए 112 रनों की साझेदारी की. मैच के बाद कप्तान सूर्यकुमार यादव ने बताया कि बल्लेबाजी के दौरान उनके और ईशान किशन के बीच क्या बातचीत हुई थी.

सूर्यकुमार यादव ने कहा कि

“बस आनंद लें और खुद को अभिव्यक्त करें. हम फ्रेंचाइजी क्रिकेट में कई बार ऐसी स्थितियों में रहे हैं. बस ईशान से कहा कि वह खुद का आनंद लें. हमें पता था कि क्या होने वाला है, मैंने कप्तानी का भार ड्रेसिंग रूम में छोड़ दिया. मैं अपनी बल्लेबाजी का आनंद लेने की कोशिश करता हूं. माहौल अद्भुत था, भीड़ को धन्यवाद.”

खिताब जीतने के बाद सूर्यकुमार यादव ने मैच की स्थिति को लेके बात करते हुए कहा,

“हम फ्रेंचाइजी क्रिकेट में कई बार ऐसी स्थितियों में रहे हैं, बस ईशान से कहा कि वह खुद का आनंद लें. हमें पता था कि क्या होने वाला है.”

गेंदबाजों को सूर्यकुमार यादव ने दिया जीत का पूरा श्रेय

भारतीय कप्तान सूर्यकुमार यादव ने गेंदबाजों को इस जीत का श्रेय देते हुए कहा कि

“लड़कों ने जिस तरह से खेला उससे बहुत खुश हूं. उनकी ऊर्जा से बहुत खुश हूं हम दबाव में थे, लेकिन जिस तरह से सभी ने प्रदर्शन किया वह अद्भुत था. यह एक गर्व का क्षण है, बहुत गर्व का क्षण है, जब भी आप खेलते हैं, आप भारत का प्रतिनिधित्व करने के बारे में सोचते हैं, लेकिन यहां आना और भारत की कप्तानी करना एक बड़ा क्षण है. मैंने सोचा था कि थोड़ी ओस होगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. यह कोई बड़ा मैदान नहीं है और मुझे पता था कि बल्लेबाजी करना आसान हो जाएगा. मैंने सोचा था कि उन्हें 230-235 रन मिल सकते हैं, लेकिन गेंदबाजों ने वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया.”

ALSO READ: IND vs AUS: “जीत का पूरा श्रेय उसे जाता है….” रिंकू सिंह नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को सूर्यकुमार यादव ने दिया भारत की जीत का श्रेय