rohit sharma blame for loss

भारत और साउथ अफ्रीका (IND vs SA) के बीच खेले गये पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम (Indian Cricket Team) को साउथ अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा. भारतीय टीम (Team India) दिग्गजों से सजे होने के बाद भी पहले टेस्ट में साउथ अफ्रीका के सामने पहले दिन से ही बेबस नजर आई. साउथ अफ्रीका टीम गेंदबाजी और बल्लेबाजी में भारत के सामने बेहद मजबूत दिखी. भारतीय टीम को इस टेस्ट सीरीज के पहले मैच में 1 पारी और 32 रनों से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा, जिसके बाद अब टीम इंडिया इस 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में 0-1 से पीछे हो गई है.

भारतीय टीम बल्लेबाजी और गेंदबाजी में रही पूरी तरह फ्लॉप

पहले टेस्ट में टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने बेहद ही निराश किया. भारत की तरफ से सिर्फ केएल राहुल ही शतकीय पारी खेलने में सफल रहे. केएल राहुल के अलावा कोई भी भारतीय बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका, जिसके बदौलत भारतीय टीम ने पहले पारी में 245 रन बनाए, लेकिन साउथ अफ्रीका ने डीन एल्गर की शतकीय पारी एवं मार्को यानसेन के 86 रनों की पारी की बदौलत भारत के सामने 408 रन बनाए.

इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के लिए सिर्फ विराट कोहली ही बड़ी पारी खेल सके, इसके अलावा कोई दूसरा बल्लेबाज नहीं टिक सका और पूरी भारतीय टीम सिर्फ 131 रनों पर सिमट गई. भारतीय टीम साउथ अफ्रीका की पहली पारी में बनाये गये रन से भी दोनों पारियों में 32 रन कमा ही बना सकी, जिसके वजह से भारत को 1 पारी एवं 32 रनों से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा.

भारतीय कप्तान ने इन्हें माना हार का जिम्मेदार

साउथ अफ्रीका के खिलाफ मिली शर्मनाक हार के बाद भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने बल्लेबाजों को इस हार का जिम्मेदार बताया. भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि

“हम जीतने के लिए पर्याप्त अच्छे नहीं थे. बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद केएल ने अच्छी बल्लेबाजी करके हमें वह स्कोर दिलाया, लेकिन फिर हम गेंद से परिस्थितियों का फायदा नहीं उठा सके और फिर आज बल्ले से भी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके. अगर हमें टेस्ट मैच जीतना है तो हमें सामूहिक रूप से एक साथ आना होगा और हमने ऐसा नहीं किया.”

इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा ने विरोधी टीम को जीत का श्रेय देते हुए कहा कि

“हम लोग पहले भी यहां आ चुके हैं, हम जानते हैं कि क्या उम्मीद करनी है और हर किसी की अपनी योजना है. हमारे बल्लेबाजों को चुनौती मिली और हम अच्छी तरह से अनुकूलन नहीं कर सके. यह बाउंड्री स्कोरिंग मैदान है, हमने उन्हें कई स्कोर बनाते देखा है, लेकिन हमें विपक्षी टीम और उनकी ताकत को भी समझने की जरूरत है.”

भारतीय कप्तान ने आगे अपने बयान में गेंदबाजों का बचाव एवं बल्लेबाजों के सिर पर हार का ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि

“हमने दोनों पारियों में अच्छी बल्लेबाजी नहीं की इसलिए हम यहां खड़े हैं. 3 दिनों के भीतर खेल खत्म करने के लिए बहुत अधिक सकारात्मकता नहीं है, लेकिन केएल ने दिखाया कि हमें इस तरह की पिच पर क्या करने की जरूरत है. हमारे गेंदबाज इनमें से बहुत से लोग पहले यहां नहीं आए हैं, इसलिए मैं ज्यादा आलोचनात्मक नहीं होना चाहता. हमारे लिए फिर से संगठित होना महत्वपूर्ण है, हम खिलाड़ी के रूप में ऐसे समय से गुजरते हैं और हमें अब अगले टेस्ट के लिए तैयार रहने की जरूरत है.”

ALSO READ: IND vs SA, STATS: भारत की शर्मनाक हार के साथ मैच में बने कुल 17 ऐतिहासिक रिकॉर्ड, हार के बाद भी विराट कोहली और रोहित शर्मा ने लगाई रिकॉर्ड की झड़ी