MOHAMMAD SHAMI 5 WICKET HAUL (1)

टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या विश्व कप के अगले दो मुकाबलों से बाहर हो सकते हैं। उन्हें टखने की चोट से उबरने में वक्त लग सकता है। 19 अक्टूबर को बांग्लादेश के खिलाफ वह अपनी गेंद को रोकने की कोशिश करते वक्त चोटिल हो गए थे। जिसकी वजह से उन्हें मैदान छोड़कर जाना पड़ा था।

इसके बाद वह 22 अक्टूबर को खेले गए भारत बनाम न्यूजीलैंड मैच का भी हिस्सा नहीं बन पाए थे। अब उनकी हेल्थ को लेकर बड़ा अपडेट सामने आया है।

कब होगी हार्दिक पांड्या की वापसी?

धर्मशाला में लगी चोट का इलाज कराने के लिए स्टार प्लेयर बेंगलुरु पहुंचे हैं। यहां नेशनल क्रिकेट एकेडमी (एनसीए) में उनका इलाज हो रहा है। बीसीसीआई की मेडिकल टीम टीम इंडिया के स्टार प्लेयर की स्थिति पर नज़र रखे हैं। इस बीच एनसीए के एक सूत्र ने बताया कि टखने की सूजन काफी कम है। वह इस हफ्ते के आखिर तक गेंदबाजी कर सकते हैं।

सूत्र ने कहा कि,

“हार्दिक पांड्या का उपचार चल रहा है। हार्दिक पांड्या के बाएं टखने की सूजन काफी कम हुई है, लेकिन वह इस हफ्ते के अंत तक गेंदबाजी की शुरुआत करेंगे। इस समय उन्हें उबरने का समय देना महत्वपूर्ण है।”

उन्होंने आगे कहा कि,

“हार्दिक पांड्या को गंभीर मोच आई है, लेकिन सौभाग्य से फ्रेक्चर नहीं हुआ है। बीसीसीआई की मेडिकल टीम अधिकतम एहतियात बरतना चाहती है। उनके अगले दो से तीन मैच से बाहर रहने की संभावना है। टीम चाहती है कि वह नॉकआउट चरण के लिए पूरी तरह फिट हों।”

दो मैचों से बाहर हो सकते हैं स्टार ऑलराउंडर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या का गुरुवार को फिटनेस टेस्ट हो सकता है।  बीसीसीआई की मेडिकल टीम रिपोर्ट आने के बाद खिलाड़ी की वापसी पर मोहर लगाएगी।

इस दौरान उनके बाएं पैर पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। मेडिकल टीम इस बात की निगरानी करेगी कि गेंदबाजी के दौरान वह बाएं पैर को लेकर थोड़ा भी असहज तो महसूस नहीं कर रहे हैं।

टीम इंडिया 29 अक्टूबर को गत चैंपियन इंग्लैंड के खिलाफ लखनऊ में उतरेगी। वहीं, 2 नवंबर को मुंबई में भारत का सामना श्रीलंका से होगा।

हार्दिक की वापसी से होगा बल्लेबाजी क्रम को फायदा

गौरतलब है कि हार्दिक पांड्या की गैरमौजूदगी में न्यूजीलैंड के खिलाफ रोहित शर्मा ने सूर्यकुमार यादव को प्लेइंग 11 का हिस्सा बनाया था। इस दौरान धाकड़ बल्लेबाज कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए थे। वह 2 रन बनाकर पवेलियन लौट गए थे। ऐसे में माना जा रहा है कि हार्दिक पांड्या की वापसी भारत के बल्लेबाजी क्रम को मजबूती प्रदान करेगी।

वहीं, गेंदबाजी के लिए कप्तान ने मोहम्मद शमी को मौका दिया था। टीम इंडिया के लिए शमी उपयोगी साबित हुए। तेज गेंदबाज ने कीवियों के खिलाफ घातक गेंदबाजी करते हुए 5 विकेट चटकाए। इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया।

ALSO READ: आईसीसी विश्व कप 2023 से बाहर होने के बाद सातवें आसमान पर पहुंचा इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर का गुस्सा, इन्हें माना शर्मनाक प्रदर्शन का जिम्मेदार