5 ऐसे भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान लिया मात्र एक विकेट
5 ऐसे भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान लिया मात्र एक विकेट

सभी भारतीय खिलाड़ियों का इंटरनेशनल लेवल (International Level) पर विकेट लेना एक बहुत बड़ा सपना होता है। भारतीय टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों और यहां तक कि विकेटकीपरों द्वारा भी गेंदबाजी की गई है, और विकेट लेने में कामयाब भी रहे हैं।

प्रत्येक खिलाड़ी के लिए उनके करियर का पहला विकेट सबसे महत्वपूर्ण होता है। इंटरनेशनल करियर के दौरान भारत की तरफ से कुछ लोकप्रिय खिलाड़ी केवल 1 विकेट लेने में कामयाब रहे हैं।

तो आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको 5 ऐसे लोकप्रिय भारतीय क्रिकेटरों के बारे में बताएंगे, जो अपने इंटरनेशनल करियर के दौरान मात्र एक विकेट हासिल करने में कामयाब रहे।

महेंद्र सिंह धोनी

दुनिया के बेहतरीन विकेटकीपर बल्लेबाजों में एमएस धोनी की गिनती होती है। उनके द्वारा कुछ मौकों पर गेंदबाजी भी की गई, लेकिन वह केवल 1 विकेट लेने में ही कामयाब रहे। उनके द्वारा यह कारनामा आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2009 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ट्रैविस डाउलिन को आउट करके किया गया था।

अगर उनके वनडे करियर की बात करें, तो उनके द्वारा 350 मैच खेले गए और 50.58 की औसत के साथ वह 10773 रन बनाने में कामयाब रहे। उनके नाम वनडे में 10 शतक और 73 अर्धशतक भी दर्ज है।

संजय मांजरेकर

पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर द्वारा वनडे क्रिकेट के दौरान केवल 8 गेंदें फेंकी गईं और 8 गेंदों में उनके द्वारा एक विकेट बेन्सन एंड होजेस वर्ल्ड सीरीज 1991 में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डीन जोंन्स को आउट करके हासिल किया गया था।

संजय मांजरेकर के वनडे करियर की बात करें, तो उनके द्वारा 74 मैच खेले गए, जिसमें 33.23 की औसत की सहायता से 1994 रन बनाने में कामयाब रहे। इस दौरान उनके बल्ले से एक शतक और 15 अर्धशतक भी बनाए जा सके।

रोहन गावस्कर

इस लिस्ट में दिग्गज क्रिकेटर सुनील गावस्कर के बेटे रोहन गावस्कर अपना नाम दर्ज कराने में कामयाब रहे हैं। उनके द्वारा वनडे में एकमात्र विकेट 2004 की बीवी सीरीज के दौरान लिया गया था। एंड्रयू सायमंड्स को उनके द्वारा पवेलियन की राह दिखाई गई थी।

भारत के लिए रोहन 11 वनडे मैच खेले हैं और 18.87 की औसत की सहायता से 151 रन अपने खाते में जोड़ने में कामयाब रहे। इस दौरान उनके द्वारा एक अर्धशतक भी लगाया जा सका।

सैयद किरमानी

1983 वर्ल्ड कप विजेता टीम का हिस्सा रहे विकेटकीपर बल्लेबाज सैयद किरमानी द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ एक टेस्ट मैच के दौरान अपने एकमात्र विकेट के रूप में अजीम हफीज को पवेलियन का रास्ता दिखाया गया था।

किरमानी के टेस्ट करियर की बात की जाए, तो उनके द्वारा भारत को 88 मैचों में रिप्रेजेंट करते हुए 26.79 की औसत की सहायता से 2759 रन बनाए गए। इस दौरान उनके बल्ले से भी 2 शतक और 12 अर्धशतक बनाए गए।

ALSO READ-ये है भारत की आल टाइम सर्वश्रेष्ठ U-19 टीम, देखिए कौन है इस टीम का कप्तान और किन्हें मिली जगह

श्रीनाथ अरविंद

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज श्रीनाथ अरविंद द्वारा भारत के लिए केवल एक टी20 इंटरनेशनल मैच 2015 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला गया था। उस मैच के दौरान उन्होंने फाफ डू प्लेसिस को अपना शिकार बनाया था। ‌ हालांकि इसके बाद फिर कभी वह भारत की तरफ से खेलते हुए नजर नहीं आ सके।

ALSO READ-IND vs PAK: ‘फ़िर तुम्हारी याद आई सनम…’ पाकिस्तान के खिलाफ़ मैच हारने के बाद लोगों को खली जसप्रीत बुमराह की कमी