BABAR AZAM POST MATCH WC 23

भारत की मेजबानी में जारी वनडे विश्व कप 2023 में पाकिस्तान का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। शुक्रवार को साउथ अफ्रीका से मिली हार के बाद टीम का सेमीफाइनल में पहुंचना मुश्किल माना जा रहा है। इस बीच पाकिस्तान के पूर्व कप्तान राशिद लतीफ ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को  लेकर बड़ा खुलासा किया है।

उन्होंने आरोप लगाया है कि पिछले पांच मैचों से खिलाड़ियों को सैलरी नहीं मिली है। इसके अलावा बोर्ड के अधिकारी अब कप्तान बाबर आजम के फोन और मेसेज का रिप्लाई भी नहीं कर रहे हैं।

पूर्व कप्तान ने लगाया बड़ा आरोप

बता दें कि शनिवार को पाकिस्तान और साउथ अफ्रीका के बीच वनडे विश्व कप 2023 का रोमांचक मुकाबला खेला गया। इस दौरान दोनों टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। दक्षिण अफ्रीकी टीम ने पाकिस्तान को 16 गेंदों के शेष रहते हुए 1 विकेट से मात दी।

पाकिस्तान की इस शिकस्त ने टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने के चांसेस कम कर दिए हैं। अब बाबर आजम की सेना को बाकी मुकाबलों के परिणामों पर निर्भर रहना होगा।

इस मैच के बाद पाकिस्तान के पूर्व कप्तान राशिद लतीफ ने पीसीबी पर बड़ा आरोप लगाया।

लतीफ ने कहा कि,

“बाबर आजम चेयरमैन को मैसेज कर रहे हैं। लेकिन वह जवाब नहीं दे रहे हैं। उन्होंने सलमान नसीर (पीसीबी सीओओ) को भी मैसेज किया था। लेकिन उन्होंने भी कोई जवाब नहीं दिया। क्या कारण है कि वह अपने कप्तान को जवाब नहीं दे रहे हैं? फिर, आप हैं एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर रहे हैं। आप यह भी कह रहे हैं कि केंद्रीय अनुबंध फिर से किया जाएगा। खिलाड़ियों को पांच महीने से वेतन नहीं मिला है। क्या खिलाड़ियों को आपकी बात सुननी चाहिए?”

छिन सकती है बाबर आजम से कप्तान!

मालूम हो कि वनडे विश्व कप 2023 में खराब प्रदर्शन का खामियाजा बाबर आजम को कप्तानी गवाकर भुगतना पड़ सकता है। पीसीबी की तरफ से इस बात के संकेत दिए जा चुके हैं। वहीं, खिलाड़ी भी बोर्ड से कुछ खास खुश नहीं है।

इस विषय में बात करते हुए एक सूत्र ने बताया कि अगर पाकिस्तान किसी भी तरह सेमीफाइनल में क्वालीफाई कर लेता है तो बाबर आजम से कप्तानी छिनने के चांसेस कम हो जाएंगे।

सूत्र ने कहा कि,

“अगर पाकिस्तान कोई चमत्कार कर सकता है और इस विश्व कप के सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करने के लिए अपने सभी शेष मैच जीत सकता है, तो बाबर के पास कप्तान के रूप में बने रहने का कोई मौका होगा और तब भी उसे केवल लाल गेंद प्रारूप में कप्तानी के लिए भेजा जा सकता है।”

बाबर आजम के फैसलों पर उठे सवाल

विश्व कप से पहले पाकिस्तान और श्रीलंका की संयुक्त मेजबानी में एशिया कप 2023 का आयोजन हुआ था। इस दौरान पाकिस्तान की टीम सेमीफाइनल तक का सफऱ तय नहीं कर पाई थी। पीसीबी ने बाबर आजम को उनके पसंदीदा खिलाड़ियों को चुनने का हक दिया था। लेकिन टीम प्रदर्शन करने में नाकाम साबित हुई।

सूत्र ने कहा कि,

“पीसीबी अध्यक्ष जका अशरफ ने मिस्बाह उल हक और मोहम्मद हफीज और कुछ अन्य पूर्व खिलाड़ियों की सलाह को नजरअंदाज कर दिया, जिनसे उन्होंने सलाह ली थी, क्योंकि बाबर इस बात पर अड़े थे कि वह विश्व कप के लिए टीम में बदलाव नहीं चाहते हैं।”

ALSO READ: वकार यूनुस, शोएब अख्तर से लेकर मोहम्मद रिजवान तक..पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने खेल भावना को किया आहत, मैदान पर बने इस्लाम प्रचारक