pat cummins post matc final

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान पैट कमिंस के लिए विश्व कप फाइनल में विराट कोहली को आउट करके नरेंद्र मोदी स्टेडियम में मौजूद 90 हजार दर्शकों को खामोश करना सबसे संतोषजनक पल रहा. ऑस्ट्रेलिया ने रविवार को यहां भारत को 6 विकेट से हराकर अपना छठा वनडे विश्व कप जीता। कमिंस यह खिताब जीतने वाले ऑस्ट्रेलिया के पांचवें कप्तान बने.

विराट कोहली को आउट करने पर बोले पैट कमिंस

उन्होंने बाद में कहा कि उन्हें 50 ओवर के प्रारूप से फिर से प्यार हो गया है. कोहली जब 54 रन पर खेल रहे थे तब कमिंस ने उन्हें अतिरिक्त उछाल लेती गेंद पर आउट किया. कमिंस से जब पूछा गया कि क्या स्टेडियम में मौजूद दर्शकों को खामोश करना उनके लिए सबसे संतोषजनक पल रहा, (Pat Cummins on Virat Kohli Wicket) उन्होंने कहा

‘‘हां मुझे ऐसा लगता है. हमने दर्शकों की खामोशी को स्वीकार करने के लिए एक सेकंड का समय लिया. ऐसा लग रहा था कि यह भी उन दिनों में से एक दिन है जिसमें वह शतक लगाएगा, जैसा कि वह आमतौर पर करता है और इसलिए यह संतोषजनक था.”

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान का मानना है कि वनडे विश्व कप बने रहना चाहिए, क्योंकि अपनी विरासत है और खिलाड़ियों के पास कहने के लिए अपनी कहानियां हैं. कमिंस ने कहा,

‘‘मैं यह जरूर कहना चाहूंगा कि मुझे इस विश्व कप में वनडे से फिर से प्यार हो गया है. ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि हमने जीत दर्ज की है. यह ऐसा टूर्नामेंट है जिसमें हर मैच वास्तव में मायने रखता है. यह द्विपक्षीय श्रृंखला से थोड़ा भिन्न है.”

उन्होंने कहा,

‘‘मेरे कहने का मतलब है कि विश्व कप का अपना समृद्ध इतिहास है. मुझे पूरा विश्वास है कि यह आगे लंबे समय तक चलेगा. पिछले दो महीनों के दौरान कई शानदार मैच खेले गए और कई नई कहानी इससे जुड़ी, इसलिए मुझे लगता है कि क्रिकेट में इसके लिए जगह है.”

भारतीय फैंस से भयभीत थे पैट कमिंस

कमिंस ने कहा,

‘‘इस तरह से सबकी अपनी कहानी है लेकिन हमारी टीम में कई ऐसे लोग हैं जिन्हें अपने काम पर गर्व है.”

कमिंस ने होटल के अपने कमरे से देखा कि नीले रंग का काफिला स्टेडियम की तरफ बढ़ता जा रहा है, जिससे वह थोड़ा बेचैन हो गए थे. उन्होंने कहा,

‘‘मुझे हमेशा यह कहना पसंद है कि मैं सहज रहता हूं लेकिन आज सुबह में थोड़ा नर्वस हो गया था. मैंने होटल के अपने कमरे से देखा की नीले रंग का काफिला स्टेडियम की तरफ बढ़ रहा है. ”

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा,

‘‘इसके बाद टॉस के लिए जाते हुए मैंने देखा कि 130000 लोगों ने भारत की नीली जर्सी पहनी हुई है. यह ऐसा अनुभव है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता. यह शानदार दिन था लेकिन अच्छी बात यह रही कि अधिकतर समय वे शोर नहीं मचा पाए.”

उन्होंने कहा,

‘‘ट्रेविस हेड ने शानदार प्रदर्शन किया. कोच एंड्रयू मैकडोनाल्ड और चयनकर्ता जॉर्ज बेली को भी श्रेय जाता है जिन्होंने उसे टीम में बनाए रखा. वह चोटिल हो गया था और आधे टूर्नामेंट में नहीं खेल पाया और ऐसे में उसे टीम में बनाए रखना बहुत बड़ा जोखिम था. हमारी चिकित्सा टीम का कार्य भी शानदार रहा जिन्होंने उसे उस स्थिति में पहुंचाया जहां वह अच्छा प्रदर्शन कर सके.”

ALSO READ: IPL 2024: एक ही खिलाड़ी पर आया प्रीति जिंटा और काव्या मारन का दिल, ऑक्शन में 35 करोंड़ तक खर्च करने को तैयार