इंग्लैंड दौरे के लिए नहीं चुने जाने पर छल्का ऋद्धिमान साहा का दर्द, BCCI पर लगाया ये बड़ा आरोप
इंग्लैंड दौरे के लिए नहीं चुने जाने पर छल्का ऋद्धिमान साहा का दर्द, BCCI पर लगाया ये बड़ा आरोप

भारतीय टीम (INDIAN CRICKET TEAM) ने एक जुलाई से इंग्लैंड के खिलाफ (IND vs ENG) एकमात्र टेस्ट मैच खेलना है। भारतीय टीम (INDIAN CRICKET TEAM) ने आखिरी बार श्रीलंका के खिलाफ मार्च 2022 में टेस्ट सीरीज खेली थी। अब इंग्लैंड के खिलाफ एक बार फिर विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) को नही चुना गया है। उन्हे अब लगातार दो सीरीज के लिए टीम में नहीं चुना गया है। 

इससे पहले भी श्रीलंका टेस्ट सीरीज से पहले टीम का ऐलान होने पर साहा को नही चुना गया था और इसके कारण खासा विवाद हुआ था। एक बार फिर ऐसा हुआ है और अब ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने टीम में नहीं चुने जाने पर अपना दर्द साझा किया है।

कमाल का रहा था आईपीएल में प्रदर्शन

Wriddhiman Saha GUJRAT TITANS

ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने पिछले आईपीएल सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया और गुजरात टाइटन्स (GUJRAT TITANS) की पहली खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाई। ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने 11 मैचों में 317 रन बनाए जिसमें तीन अर्द्धशतक शामिल थे, लेकिन ये राष्ट्रीय टीम में वापसी कर पाने के लिए काफी नहीं साबित हुआ। ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने स्पोर्ट्स तक को दिए इंटरव्यू में बात करते हुए बताया,

“ऐसा मत सोचो कि मुझे अब टीम इंडिया के लिए चुना जाएगा। कोच और मुख्य चयनकर्ताओं ने मुझे पहले ही सूचित कर दिया था कि अब टीम में मेरी जगह नहीं है। अगर सेलेक्टर्स मुझे चुनना चाहते हैं, तो मैं अपने आईपीएल प्रदर्शन के आधार पर इंग्लैंड दौरे का हिस्सा बन सकता था। उनकी ओर से यह एक स्पष्ट निर्णय है, लेकिन मुझे सिर्फ क्रिकेट खेलने की चिंता है। जब तक मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं, मैं क्रिकेट खेलना जारी रखूंगा।”

ALSO  READ: टी20 विश्व कप 2022 में खतरे में विराट कोहली की जगह, ये युवा खिलाड़ी टीम इंडिया में ले सकता है नंबर 3 पर उनकी जगह

पंजाब के लिए फाइनल में लगाया था शतक

Wriddhiman Saha

विकेटकीपर बल्लेबाज ने आगे कहा कि,

“ओवरऑल, मैं कहूंगा कि, हां मैंने अपना योगदान दिया और हम (गुजरात टाइटंस) चैंपियन भी बने। इससे पहले 2014 में भी मैंने पंजाब टीम के लिए फाइनल में शतक लगाया था। रैंकिंग के अनुसार देखें तो आप कह सकते हैं कि यह मेरे करियर का सबसे सफल आईपीएल सीजन रहा। मगर रन के लिहाज से देखें तो मैंने 2014 में ज्यादा रन बनाए थे और मैच भी ज्यादा खेले थे। मेरे पास अब ऑप्शन कम हैं लेकिन मेरे लिए जरूरी है कि मैं अपना पूरा ध्यान क्रिकेट पर लगाऊं। जब तक मुझे क्रिकेट से प्यार है, मैं खेलता रहूंगा।”

ALSO  READ: IND vs ENG: चोटिल केएल राहुल की जगह ये खिलाड़ी रोहित शर्मा के साथ करेगा ओपनिंग, बीसीसीआई ने बताया नाम!