ROHIT VIRAT AND RAHUL DRAVID

एशिया कप हारने के बाद भारतीय टीम ने कड़ी मेहनत की. कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ ने एक बार फिर से अपने अप्रोच में बदलाव किया. नतीजा यह निकला कि अब भारत सेमीफाइनल में पहुंच गया है और टी-ट्वेंटी विश्व कप का चैंपियन बनने से सिर्फ 2 कदम दूर है. भारतीय टीम मैनेजमेंट अपने तेज गेंदबाजों को बहुत महत्व देता है.

इस बीच ख़बर आ रही है कि भारत के कप्तान और हेड कोच ने अपनी बिजनेस क्लास की टिकट अपने टीम में तेज गेंदबाजों को दे दी है.

हर टीम को मिलता है सिर्फ चार बिजनेस क्लास का टिकट

किसी भी बड़े टूर्नामेंट में टीमों को अलग-अलग शहरो में ट्रेवल करना पड़ता है. भारत ने इस टी-ट्वेंटी विश्व कप में पांच मैच खेले हैं, जिसमें उनको चार अलग-अलग मैदानों पर खेलना पड़ा है.

भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला मैच मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेला था, दूसरा मैच नीदरलैंड्स के खिलाफ सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला था. तीसरा मुक़ाबला भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पर्थ पर खेला था और चौथा बंग्लादेश के खिलाफ ऐडिलेड ओवल में खेला था.

दिलचस्प है कि अगल-अलग स्थानों पर ट्रेवल करने के लिए हर टीम को सिर्फ चार बिजनेस क्लास की टिकटें मिलती हैं. अक्सर होता यह है कि हर टीम के कप्तान, उपकप्तान, कोच और कोई बड़ा खिलाड़ी इस बिजनेस क्लास का फायदा उठाता है. लेकिन भारतीय टीम ने इसमे कुछ अनोखा किया है.

भारतीय टीम का यह मानना है कि भारत के तेज गेंदबाज मैदान पर सबसे ज्यादा मेहनत करते हैं, इसलिए उन्हें ही बिजनेस क्लास की टिकट देनी चाहिए. इसलिए यह चार टिकटें भुवनेश्वर कुमार, अर्शदीप सिंह, हार्दिक पंड्या और मोहम्मद शमी को दिया गया है.

ALSO READ: टी20 विश्व कप में शर्मनाक हार के बाद इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया टीम घोषित, ये खिलाड़ी बना नया कप्तान

भारत के सपोर्ट स्टाफ ने क्या बताया

इस मामले पर भारत के एक सपोर्ट स्टाफ के सदस्य ने इंडियन एक्सप्रेस से बात की. उन्होंने कहा कि,

‘टूर्नामेंट से पहले, हमने फैसला किया कि चूंकि तेज गेंदबाज दिन में मैदान पर अधिकतम मेहनत करेंगे, इसलिए उन्हें अपने पैरों को फैलाने की जरूरत है.’

भारत अपना अगला मुक़ाबला जोकि सेमीफाइनल होने वाला है वह इंग्लैंड से 10 नवंबर को खेलेगा.

ALSO READ: आज इन 3 दिग्गजों को मिलेगा ICC Hall of Fame सम्मान, एक महिला क्रिकेटर भी शामिल