‘वो 2-3 मैच के बाद खिलाड़ियों को ड्रॉप करता था, जो टीम के लिए सही नहीं होता’: वीरेंद्र सहवाग
‘वो 2-3 मैच के बाद खिलाड़ियों को ड्रॉप करता था, जो टीम के लिए सही नहीं होता’: वीरेंद्र सहवाग

आईपीएल सीजन 15 (IPL 2022) में फाफ डु प्लेसिस (Faf Du Plessis) की अगुवाई वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) ने शानदार प्रदर्शन की मगर फिर एक बार वो खिताब जीतने से चूक गई। इस बार उनका सफर क्वालीफायर 2 तक रहा। इस बार क्वालीफायर 2 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) को राजस्थान रॉयल्स (Rajsthan Royals) के हाथों हार का सामना करके आईपीएल (IPL 2022) से बाहर होना पड़ा। इस मैच में जॉस बटलर (Jos Buttler) का शतक दोनो ही टीमों के बीच अंतर बन गया।

वीरेंद्र सहवाग ने की फाफ की तारीफ

virendra sehwag

वीरेंद्र सहवाग भारतीय क्रिकेट के मशहूर खिलाड़ी में से एक हैं। वो हमेशा अपने बयानों के कारण सुर्खियों में रहते हैं। इसी बीच उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के इस सीजन सफल अभियान को लेकर ऐसा बयान दिया है, जिसे कोहली फैंस बिल्कुल भी पसंद नहीं करेंगे।

आपको बता दे वीरेंद्र सहवाग ने फाफ डु प्लेसिस की तारीफ़ करते हुए हाल में एक बयान जारी किया और कहा ,

“इस सीजन रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की सफलता का श्रेय कोच संजय बांगर और कप्तान फाफ डु प्लेसिस को जाना चाहिए। दोनो ने ही इस सीजन पहले वाले आरसीबी से काफ़ी अलग सोचकर टीम चलाया है, जिसके कारण टीम आज क्वालीफायर 2 तक पहुंची है। “

विराट कोहली पर साधा वीरेंद्र सहवाग ने निशाना

वीरेंद्र सहवाग

विराट कोहली के कप्तानी पर निशाना साधते हुए वीरेंद्र सहवाग ने कहा ,

“अगर इस समय फाफ डु प्लेसिस के जगह विराट कोहली कप्तान रहते तो वो हमेशा के तरह हमेशा 2 से 3 बदलाव करते रहते जिससे हमेशा टीम संतुलन बिगड़ते रहती। इस सीजन फाफ डु प्लेसिस ने सभी खिलाड़ियों को काफी मौके दिए हैं, टीम से बाहर निकालने से पहले और कई खिलाड़ियों ने मौके का फायदा उठाया है। “

ALSO READ: Women T20 Challenges 2022: फाइनल जीतने वाली सुपरनोवा पर हुई पैसों की बारिश, जानिए किसे मिले कितने का ईनाम

वीरेंद्र सहवाग ने आगे कहा ,

“अगर विराट कोहली टीम का कप्तान रहता तो शायद ही रजत पाटीदार को इतने मौके मिलते। कुछ मैचों में खराब प्रदर्शन के बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया जाता। “

क्या वीरेंद्र सहवाग की बात है सही?

Virendra Sehwag ने इन्हें ठहराया करियर खत्म करने का जिम्मेदार, कहा अगर ड्रॉप न होता 10 हजार से अधिक रन बनाता

अगर हम वीरेंद्र सहवाग के इस बयान को विराट कोहली की पिछले सीजनों में आरसीबी की कप्तानी से तुलना करें तो वीरेंद्र सहवाग की बात लगभग सच नज़र आयेगी। आपको बता दें पिछले कई सालो में ऐसा देखा गया है, जब विराट कोहली निरंतर टीम में बदलाव करते रहते थे। किसी भी खिलाड़ी के 2 मैच में फ्लॉप होने के बाद उन्हें टीम से बाहर निकल दिया जाता था।

ALSO READ: वसीम जाफर ने चुनी उन खिलाड़ियों की प्लेइंग जिन्हें कभी नहीं मिला उनकी प्रतिभा का सम्मान, जाफर की ये टीम किसी को भी दे सकती है मात