क्रिकेट के 4 रिकॉर्ड जिसको बचपन से मानते हैं हम अफवाह, लेकिन असल में है बिलकुल सच

क्रिकेट के मैदान पर कई रिकॉर्ड बनते और टूटते रहते है। खिलाड़ियों को उनकी खेल शैली के चलते नाम दिए जाते हैं तो वहीं किस खिलाड़ी की क्या क्षमता है? इस बारे में भी बातचीत की जाती है। लेकिन आज हम आपको चार ऐसे रिकॉर्ड के बारे में बता रहे हैं जोकि सुनने पर बिल्कुल सच नहीं लगाते लेकिन असल सच हैं।

राहुल द्रविड़ ने लगाए तीन लगातार छक्के

राहुल द्रविड़

 

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को द वॉल के नाम से जाना जाता है। जिसके पीछे की वजह है कि जब वो खेलने के लिए उतरते तब विकेट गिरने की गति रुक जाती थी। विरोधी टीम के समाने वो एक दीवार की तरह खड़े रहते थे। लेकिन राहुल द्रविड़ को एक अक्रामक खिलाड़ी के तौर पर नहीं जाना जाता है। उन्हें छक्के लगाने के लिए नहीं जानते हैं। लेकिन उन्होंने इंग्लैंडएनके खिलाफ 2011 में टी20 में लगातार तीन छक्के लगाए थे। राहुल द्रविड़ की खेल शैली के आगे ये बात सत्य भले न लगे लेकिन ये सच है।

Also Read  : IND vs SA: साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारतीय टीम में हुई इस घातक गेंदबाज की एंट्री, जसप्रीत बुमराह से भी बेहतर यॉर्कर गेंद डालने में है माहिर

एडम गिलक्रिस्ट ने ग्लव्ज में टोटके के रूप में स्क्वॉश बॉल रखी

विकेटकीपर खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट को विस्फोटक अंदाज में बल्लेबाजी के लिए जाना जाता है। एडम गिलक्रिस्ट विरोधी टीम के ऊपर अक्रामक अंदाज़मे बल्लेबाजी करते आए है। लेकिन 2007 में श्रीलंका के खिलाफ फाइनल मैच में एडम गिलक्रिस्ट ने उनके ग्लव्ज में टोटके के रूप में स्क्वॉश बॉल रखी थी। इस मैच में उन्होंने 149 रन बनाए थे। एडम गिलक्रिस्ट भले से आत्मविश्वास से भरे खिलाड़ी रहे है। लेकिन उनका ये टोटका सत्य है।

Also Read : IPL 2023 में ये 3 टीमें सबसे पहले बदलेंगी अपने कप्तान, प्रदर्शन के साथ कप्तानी में भी हैं फ्लॉप

एक ओवर में डाली 17 गेंद

क्रिकेट के ओवर में अब एक ओवर में 6 गेंद होती हैं। लेकिन पाकिस्तान के गेंदबाज मोहम्मद सामी ने 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ मैच में एक ओवर में 17 गेंद डाल दी थी। इस ओवर में खिलाड़ी में 4 नो बॉल और 7 वाइड गेंद फेंकी थी। इस 17 गेंद के ओवर में जहां 4 नो बॉल थी, फिर भी 22 रन बने थे। ये घटना सही है।

ALSO READ:IPL 2022: घर पहुंचते ही इस ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने मुंबई इंडियंस पर लगाया गंभीर आरोप, कहा रोहित शर्मा ने दिया कभी न भूलने वाला गम

टेस्ट मैच की चार परियां एक दिन में खेली गई

टेस्ट मैच पांच दिन के लिए खेला जाता है, जिसमें कभी कभी चारों परियां भी संपन्न नहीं होती हैं। लेकिन 2011 में दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक टेस्ट मैच की चारों परियां एक दिन में भी समाप्त हो गईं थी। इस मैच में एक दिन में 167.5 ओवर डाले गए जिसमें पहले दिन 55 ओवर्स डाले गए। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी की। दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया की पारी 20 ओवर और खेलने के बाद आउट हुई जिसके दक्षिण अफ्रीका को 96 रन पर आउट कर दिया। जिसके बाद ऑस्ट्रेलिया 47 रन पर ऑल आउट हुई। दिन आखिर में दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए 236 रन का टारगेट मिला और अमला-स्मिथ के शतकों के दम कर दक्षिण अफ्रीका ने 8 विकेट से जीत हासिल कर ली। इस तरह एक दिन चारों पारियां खेली गई।

ALSO READ:आईपीएल 2022 से बाहर होने के बाद अपने इन 5 खिलाड़ियों को सबसे पहले टीम से बाहर का रास्ता दिखाएगी कोलकाता नाईट राइडर्स