IPL की सैलरी खर्च करने के बजाय तिलक वर्मा ने अपने पापा को दी, भावुक कर देगी इसके पीछे की असली वजह
IPL की सैलरी खर्च करने के बजाय तिलक वर्मा ने अपने पापा को दी, भावुक कर देगी इसके पीछे की असली वजह

इंडियन प्रीमियर लीग ( IPL 2022) में लीग की सबसे सफल टीम रही मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) अपने खिलाड़ियों के प्रदर्शन के बाद प्वाइंट टेबल (IPL 2002 Points Table) में सबसे नीचे रही। मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) का ये सीजन सभी तक खेले गए सभी सत्र में सबसे खराब गुजरा है। जिसके बाद भी इस साल मुंबई इंडियंस के खेमे से युवा खिलाड़ी का नाम क्रिकेट दिग्गजों की जुबान पर बना रहा है।

मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) की तरफ से तिलक वर्मा (Tilak Verma) सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने हैं। युवा खिलाड़ी ने आईपीएल में अच्छी कमाई की, लेकिन उन्होंने अपने सभी पैसे खर्च करने के बजाय अपने पिता को दे दिए। जानिए क्या है पूरी बात..

युवा खिलाड़ी तिलक वर्मा ने किया काफी संघर्ष

TILAK VERMA WITH HIS FAMILY

मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) की तरफ से युवा खिलाड़ी तिलक वर्मा (Tilak Verma) ने यहां तक पहुंचने के लिए काफी संघर्ष किया है, जिसके बाद खिलाड़ी ने 2022 में दुनिया की सबसे बड़ी लीग की सबसे सफल फ्रेंचाइजी की तरह से इस सत्र में सबसे ज्यादा रन बनाए।

तिलक वर्मा (Tilak Verma) को मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) ने मेगा ऑक्शन में 1.70 करोड़ में खरीदा था। जिसके बाद उन्होंने आईपीएल 2022 में 398 रन बनाए हैं। जिसके बाद एक वेबसाइट से बातचीत में खिलाड़ी में अपने सफर के बारे में बताते हुए कहा

“पारंपरिक करियर विकल्पों के बाहर सपने देखने की लग्जरी हमारे पास कभी नहीं थी। क्योंकि इसके लिए एक अच्छी नौकरी और निरंतर आय काफीमहत्वपूर्ण थी। मेरे पास अब जो कुछ भी है उसे पाने के लिए मुझे जो छोड़ना पड़ा उसे मैं उसे भी कभी नहीं भूलूंगा। मैंने उन सभी महत्वपूर्ण पारिवारिक समारोहों, एक करीबी बहन की शादी और अपने माता-पिता के साथ क्वालिटी टाइम छोड़ा है”।

ALSO READ: IND vs SA: “ऋषभ पंत की जगह खतरे में है” कोच ने कहा अब दूसरे मैच में बदलो बल्लेबाजी क्रम, इस नंबर पर करो बल्लेबाजी

जब बस में किट ले जाने नही देते थे लेकिन अब पैसे दिए पापा को: तिलक वर्मा

तिलक वर्मा

मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के बल्लेबाज तिलक वर्मा (Tilak Verma) ने आगे कहा कि

“उनके लिए सबसे बुरी बात इस समय थी कि मेरी बड़े क्रिकेट किट को बस में ले जाने की अनुमति नहीं थी और जब भी मैं किट को अपने साथ ले आता था तब हमेशा ही हंगामा होता था। लेकिन अब ऐसा नहीं है मेरे पास अपनी खुद की कार खरीदने के लिए पर्याप्त पैसे है। मैंने अंडर 16 टीम का नियमित सदस्य बनने के लिए बहुत कोशिश की थी। मैं सुबह जल्दी मैदान पर चला जाता था और देर शाम तक वहीं पर रुका रहता था। मैंने स्टेट कैंप में कभी एक भी दिन नहीं मिस किया था। मैं खाना और आराम करना छोड़ कर देता था। मैं पैसों को दिमाग को परेशान करने नहीं दे रहा हूं। मैने सबकुछ अपने पापा को से दिया और उनसे ये भी कहा है कि मुझे इन सब से दूर रखे क्योंकि मुझे पता है ध्यान भटकना बहुत आसान है”।

ALSO READ: IPL 2023: इन 3 खिलाड़ियों को अगर इनकी फ्रेंचाइजी कर दे रिलीज तो अगले आईपीएल में मालामाल हो जायेंगे ये भारतीय खिलाड़ी