एशिया कप 2022 में अगर इन 3 खिलाड़ियों को नजरअंदाज नहीं करते रोहित शर्मा तो भारत ही होता विजेता, टी20 विश्व कप में करायेंगे वापसी
एशिया कप 2022 में अगर इन 3 खिलाड़ियों को नजरअंदाज नहीं करते रोहित शर्मा तो भारत ही होता विजेता, टी20 विश्व कप में करायेंगे वापसी

मौजूदा चैंपियन के रूप में Asia Cup 2022 में टीम इंडिया ने एंट्री ली थी, लेकिन रोहित एंड कंपनी को अपने शुरुआती दोनों सुपर 4 मैच हारने के बाद टूर्नामेंट से जल्दी ही बाहर होना पड़ा। विश्व कप के लिए एशियाई प्रतियोगिताएं एक अभ्यास के रूप में देखी गई थी। जिसमें नंबर 1 टी20ई टीम द्वारा अपने शस्त्रागार में खामियों को दूर किया जा सकता था।

हालांकि इस निराशाजनक प्रदर्शन से हमें जितने जवाब मिल सके, उससे कहीं ज्यादा सवाल भी आ खड़े हुए। 16 सितंबर तक भारत को अपना विश्व कप रोस्टर चुनना है, और कुछ बड़े खिलाड़ियों को बड़े टूर्नामेंट के लिए एशिया कप की हार वापसी करने पर मजबूर कर सकती है।

मोहम्मद शमी

32 वर्षीय मोहम्मद शमी वनडे और टेस्ट में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक माने जाते हैं। वह पहले सभी प्रारूपों में भारत के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में शामिल थे, लेकिन 2021 विश्व कप में निराशाजनक प्रदर्शन के दौरान सबसे छोटे प्रारूप से वह बाहर हो गए हैं।

इंडियन प्रीमियर लीग 2022 मोहम्मद शमी के लिए गुजरात टाइटंस के साथ शानदार सीजन रहा। इस अनुभवी स्पिनर द्वारा 16 खेलों में 20 की इकॉनामी से 8 विकेट हासिल किए जा सके। उत्तर प्रदेश का यह खिलाड़ी गुजरात की आईपीएल जीत के लिए बहुत महत्वपूर्ण था।

इस एशिया कप के दौरान भारत की गेंदबाजी दमदार नहीं थी, टीम इंडिया विपक्ष के ऊपर अपना कोई उचित प्रभाव नहीं डाल सके। लेकिन वह इस खामी को भरने की काबिलियत रखते हैं।

ईशान किशन

सीमित ओवरों के सबसे दिलचस्प खिलाड़ियों में से ईशान किशन एक रहे हैं, जो तुरंत आक्रमक हो सकते हैं, और टी-20 के सबसे बड़े खिलाड़ी हैं। मेन इन ब्लू के लिए किशन द्वारा 19 मैचों में 131.15 के स्ट्राइक रेट से 543 रन बनाए गए हैं। 24 वर्षीय यह खिलाड़ी हाल ही में भारतीय टी20 लाइन अप में नियमित रहा है, हालांकि उनके फार्म में कुछ मामूली गिरावट और अनुभवी खिलाड़ियों की टीम में वापसी के चलते इस युवा खिलाड़ी को वर्तमान बहु राष्ट्र प्रतियोगिता से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था।

भारत अपनी बल्लेबाजी निडर होकर करने की पूरी कोशिश कर रहा है। लेकिन केएल राहुल के खराब प्रदर्शन के चलते कोई मदद नहीं मिल सकी है। रोहित एंड कंपनी को एक शीर्ष स्तरीय बैशर की तलाश है, जो स्वतंत्र रूप से खेल सके। ईशान किशन ठीक ऐसा ही करने में सक्षम है। इसके अतिरिक्त एक बाएं हाथ के खिलाड़ी भी हैं, और उनकी उपस्थिति शीर्ष पर बांए- दांए संयोजन देती है।

संजू सैमसन

भारतीय क्रिकेट के सबसे कुशल क्रिकेटरों में से एक संजू सैमसन द्वारा काफी क्षमता दिखाई गई है। लेकिन अभी तक वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी उम्मीदों में खरे नहीं उतर सके हैं।

ऐसा प्रतीत होता है कि 27 वर्षीय खिलाड़ी हाल के वर्षों में एक खिलाड़ी के रूप में परिपक्व हुए हैं साथ हीं जैसे उनके शानदार शार्ट मेकिंग में निरंतरता जोड़ी गई है। उनके द्वारा आईपीएल के पिछले 2 वर्षों के दौरान 450 से अधिक के स्ट्राइक रेट के साथ 135 से भी अधिक रन बनाए हैं।

ALSO READ: शाहिद अफरीदी ने बताया क्यों उनकी बेटी ने पाकिस्तान छोड़ फहराया भारत का झंडा

एशिया कप के दौरान सैमसन ने

अपनी जगह बनाने पर विचार किया था। लेकिन वह कट बनाने में असमर्थ साबित हुए है। शीर्ष और मध्य दोनों ही क्रमों में बल्लेबाजी करने की पूर्ण काबिलियत उनमें मौजूद है। एक मजबूत हुक और पुल शॉट उनके पास मौजूद है। जिसकी आस्ट्रेलिया में आवश्यकता है। बांए हकीकत स्पीड के लिए द्वारा काफी संघर्ष किया गया है। इसका समाधान केरल के एक क्रिकेटर द्वारा प्रदान किया जा सकता है।

Read Also:-मोहम्मद रिजवान का एशिया कप फाइनल के बीच बड़ा खुलासा, कहा- “हमेशा इस भारतीय खिलाड़ी से लगता है डर”