IPL 2022 में इन 5 खिलाड़ियों ने बल्ले से रन बरसाने के साथ अपनी टीम की शानदार कप्तानी में भी रहे अव्वल

हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वह अपने देश की नेशनल टीम का हिस्सा बने। हालांकि बहुत से खिलाड़ियों को उनके बेहतरीन प्रदर्शन की वजह से ये मौका मिल जाता है। इनमें भी कुछ ऐसे खिलाड़ी होते हैं जिन्हें राष्ट्रीय टीम की कप्तानी का भी मौका मिला जाता है। ऐसे में कई खिलाड़ी इस टास्क को सफलता से पूरा कर लेते हैं तो कुछ खिलाड़ी असफल रह जाते हैं। वैसे क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर महानतम खिलाड़ी रहे हैं लेकिन उनकी कप्तानी में टीम का प्रदर्शन कोई खास नहीं रहा, जबकि सौरव गांगुली, महेंद्र सिंह धोनी, राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले समेत कई ऐसे भारतीय कप्तान रहे जिनके नेतृत्व में टीम को खूब कामयाबी मिली।

वहीं भारतीय टीम में समय-समय पर कई अन्य क्रिकेटरों को कप्तान बनने का मौका मिला है। इनमें से कुछ तो इस पद को लम्बे समय तक सँभालते रहे जबकि कई खिलाड़ी एक निश्चित समयकाल के लिए टीम के कप्तान बने। किसी भी टीम की जीत-हार और कप्तान का मैचों में प्रदर्शन काफी अहम माना जाता है। इसमें सबसे ख़ास जो होता है वह है जीत का प्रतिशत है। भारतीय क्रिकेट में कुछ वनडे कप्तान ऐसे हुए हैं जिनकी कप्तानी में टीम ने शत प्रतिशत जीत का रिकॉर्ड बनाया। इस आर्टिकल में हम कुछ ऐसे ही कप्तानों की बात करेंगे जिन्होंने अपनी कप्तानी में कोई वनडे मैच नहीं हारा।

अनिल कुंबले

Anil Kumble
जम्बो के नाम से फेमस अनिल कुंबले ने अपनी कप्तानी में कई टेस्ट मैचों टीम को जीत दिलाई। हालांकि वनडे में उन्हें अधिक मौका नहीं दिया गया लेकिन चेन्नई में साल 2002 में हुए वनडे मैच में उन्हें भारत की कप्तानी सौंपी गई थी। ये मैच भारत ने इंग्लैण्ड के खिलाफ खेला था। भारत ने मैच में चार विकेट से जित लिया था। अनिल कुंबले का वह एकमात्र मैच था जिसमें वे वनडे मैच के कप्तान रहे। इसके बाद अनिल कुंबले को वनडे फार्मेट में भारतीय टीम की कप्तानी का मौका नहीं मिला लेकिन टेस्ट मैचों में वे पूर्ण कप्तान बने थे।

गौतम गंभीर

gautam gambhir
गौतम गंभीर कभी भी भारतीय टीम के पूर्ण कप्तान नहीं रहे लेकिन कुछ मौकों पर उन्हें एकदिवसीय मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी करने का मौका मिला है। दरअसल, गंभीर ने महेंद्र सिंह धोनी की अनुपस्थिति में साल 2010 में न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज में कप्तानी की थी। इस दौरान शानदार प्रदर्शन करते हुए सभी मैचों में भारत ने जीत दर्ज की। इसके बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए एक अन्य मैच में भी उन्हें मौका मिला। ये यह मैच भी भारत जीत लिया। गौतम गंभीर ने 6 मैचों में कप्तानी की और सभी भारत ने जीत हासिल की।

ALSO READ:Women’s T20 Challenge: डेब्यू मैच में ही लेडी सहवाग शेफाली वर्मा पर भारी पड़ी ये भारतीय महिला खिलाड़ी, टूटने से बचा सबसे तेज अर्द्धशतक का विश्व रिकॉर्ड

अजिंक्य रहाणे

Ajinkya Rahane
अजिंक्य रहाणे का भी वनडे कप्तानी में रिकॉर्ड काफी शानदार रहा है। रहाणे ने साल 2015 के जिम्बाब्वे दौरे पर तीन मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम की कप्तानी की थी। इस सीरीज में खेले गए सभी मैचों में भारतीय टीम को जीत हासिल हुई थी। हालांकि रहाणे को उसके बाद वनडे टीम की कप्तानी करना का कभी मौका नहीं मिला। वे वनडे टीम में अपनी जगह स्थायी रखने में भी असफल रहे।

इसे भी पढ़ें:-RCB vs LSG: 4 4 4 4 4…..और 6 6 6 6 6 6 6 की धमाकेदार पारी के बाद रजत पाटीदार पर हुई पैसों की बारिश, मिला इतने का इनाम राशि