"उसे क्यों नजरअंदाज कर रहे हो" सुनील गावस्कर ने राहुल द्रविड़ और रोहित शर्मा के टीम चयन पर उठाया सवाल
"उसे क्यों नजरअंदाज कर रहे हो" सुनील गावस्कर ने राहुल द्रविड़ और रोहित शर्मा के टीम चयन पर उठाया सवाल

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 मैचों की टी20 सीरीज (IND vs AUS) के पहले मैच में भारत को करारी हार का सामना करना पड़ा। टीम की डेथ बॉलिंग को लेकर चिंता जताई जा रही है। साथ ही टीम के प्लेइंग इलेवन खासतौर से गेंदबाजी क्रम को लेकर खासी चर्चाएं हो रही हैं।

पूर्व भारतीय कप्तान हुए खफा

नागपुर में होने वाला दूसरा मैच टीम इंडिया के जरूरी है, क्योंकि एक हार से टीम इस सीरीज को गंवा देगी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली में खेले गए पहले टी20 मैच में टीम इंडिया को मिली हार के बाद भारत के पूर्व बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने प्लेइंग इलेवन में उमेश यादव को दीपक चाहर से ज्यादा तरजीह दिए जाने के टीम मैनेजमेंट के फैसले पर सवाल उठाए हैं। 

209 रनों के लक्ष्य का बचाव करते हुए यादव ने दो ओवर में 27 रन देकर दो विकेट लिए थे। सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने पत्रकारों से अगली प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीम मैनेजमेंट से ये सवाल पूछने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा,

“मुझे लगता है कि टीम प्रबंधन को ये सबसे अच्छा पता है कि उमेश यादव जैसे किसी व्यक्ति को लेने की उनकी सोच क्या थी, जो रिजर्व में भी नहीं है और दीपक चाहर नहीं खेल रहा है। दीपक चाहर भी चोट से बाहर आ रहे हैं। लेकिन वर्ल्ड कप जैसे बड़े टूर्नामेंट में जाने से पहले आपको कुछ मैच खेलने की जरूरत होती है।” 

ALSO READ: IND vs AUS: आज दूसरे टी20 में जसप्रीत बुमराह की वापसी के बाद भारतीय टीम से बाहर होगा ये खिलाड़ी

रिजर्व खिलाड़ी को मिलना चाहिए मौका

सुनील गावस्कर ने बताया की दीपक चहर को मौका देना चाहिए, क्योंकि वह पहले से टीम के साथ जुड़े हैं और उमेश यादव लय में नही हैं। उन्होंने कहा,

“यदि आप दीपक चाहर की तरह सोचें तो एक स्टैंडबाय गेंदबाज के रूप में आप जा रहे हैं और अचानक ऑस्ट्रेलिया में, कोई खिलाड़ी चोटिल हो जाता है, तो अगर उसने कोई मैच नहीं खेला होगा तो उसे लय कैसे मिलेगी।”

सुनील गावस्कर ने आगे कहा,

“ये सवाल टीम प्रबंधन से अगली प्रेस कॉन्फ्रेंस में जरूर पूछा जाना चाहिए कि उन्होंने उमेश यादव को क्यों चुना और दीपक चाहर को क्यों नहीं। अगर चाहर को कोई चोट लगी हो तो हम कुछ कह नहीं सकते।”

ALSO READ: IND vs AUS: कभी मैच विनर था ये खिलाड़ी अब भारतीय टीम पर बना बोझ, टी20 विश्व कप के बाद संन्यास ही है आखिरी रास्ता