SHIKHAR DHAWAN PRESS

भारत इस वक्त न्यूजीलैंड दौरे पर है. भारत ने सफलतापूर्वक टी-ट्वेंटी सीरीज पर अपना कब्जा जमा लिया है. अब 25 नवंबर से एकदिवसीय सीरीज शुरू होने वाली है. इस सीरीज में कप्तानी शिखर धवन करने वाले है. शिखर धवन ने अपने कप्तानी अनुभव को लेकर बहुत कुछ कहा है, आइए इस लेख में पढ़ते हैं.

शिखर धवन ने कही ये बात

शिखर धवन ने क्रिकइन्फो से बातचीत के दौरान कहा कि,

‘जब आप खेलते जाते हैं तो आप जो निर्णय लेते हैं उसमें आत्मविश्वास झलकता है. पहले कई बार ऐसा हुआ है कि मैं एक गेंदबाज को एक अतिरिक्त ओवर दे देता था, लेकिन अब जब मेरे पास अनुभव हो गया है तो अगर किसी को बुरा भी लगे तो भी मैं ऐसे निर्णय लेता हूं जो टीम की मदद करें और टीम के हित में हो.’

धवन ने कहा सबसे मिलजुलकर रहता हूँ

बातचीत के दौरान शिखर धवन ने कहा कि,

‘जब आप कप्तान बनते हो तो आप पर कई और जिम्मेदारियां भी आ जाती हैं. आपको पूरी टीम के बारे में सोचना होता है. साथ ही कोशिश होती है कि माहौल को अच्छा कैसे रखा जाए. शिखर धवन ने आगे कहा कि उन्हें बहुत ज्यादा बदलाव की जरूरत नहीं थी, क्योंकि वे एक खिलाड़ी के तौर पर हमेशा सबसे मिलजुलकर रहते हैं. यही मेरा स्वभाव है और एक कप्तान के तौर पर उन्हें इसका फायदा भी मिला है. मैदान पर जब आप शांत रहकर कुछ सोचते और समझते हैं तो फैसले लेने में आसानी होती है. मैच के दौरान गलतियां होती हैं, लेकिन इसे कैसे समझा जाए, ताकि खिलाड़ियों में उत्साह बना रहे और दबाव की स्थिति न बने.’

ALSO READ: हरभजन सिंह ने कहा टी20 विश्व कप जीतना है तो राहुल द्रविड़ की जगह ये खिलाड़ी हो टीम इंडिया का नया कोच

शिखर धवन ने आगे कहा कि,

‘हमेशा से खुद को एक बेहतर कप्तान समझता था और अब भगवान का शुक्र है कि मुझे टीम इंडिया की कप्तानी करने का मौका भी मिला है.’

आप से बता दें कि शिखर धवन ने वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका सीरीज में भी भारतीय टीम की कमान संभाली है और टीम ने शानदार जीत भी दर्ज की है.

ALSO READ: “उन्होंने मुझे एक बार बताया तक नहीं और टीम से बाहर कर दिया” मनीष पांडे का छलका दर्द, टीम मैनेजमेंट को बोल दी ये बड़ी बात