WASIM AKARAM GOT ANGRY

टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड से मिली हार का रोना अभी पाकिस्तान और उसके खिलाड़ियों का खत्म नहीं हुआ है. इसी बीच फैंस के सवालों पर वसीम अकरम (Wasim Akram) जमकर भड़के हैं. देखा जाए तो एक तरफ पाकिस्तान की हार के बाद इस वक्त एक के बाद एक पाकिस्तानी पूर्व दिग्गज खिलाड़ी अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया पर पाकिस्तानी फैंस का अपना अलग ही रोना चल रहा है ,जो अपने ही देश के खिलाड़ियों को ट्रोल कर रहे हैं.

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम (Wasim Akram) कुछ कमेंट पढ़कर पूरी तरह भड़क गए और उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया. उसके बाद जो उन्होंने कहा वह पूरी तरह से चर्चा में आ चुका है.

वसीम अकरम को इस बात पर आया गुस्सा

पाकिस्तान की हार के बाद लगातार फैंस खिलाड़ियों को ट्रोल कर रहे हैं और खिलाड़ियों को खरी-खोटी सुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे जहां कुछ लोगों ने तो ऐसे- ऐसे कमेंट कर दिया है जिसे पढ़कर लगता है कि यह क्रिकेट के प्रशंसक हैं या फिर दुश्मन. ऐसा ही एक कमेंट पढ़कर पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम (Wasim Akram) को पूरी तरह गुस्सा आ गया.

दरअसल फाइनल में पाकिस्तान की हार के बाद एक यूजर ने लिखा था कि

“एक नवाज शरीफ भगोड़ा था और एक शाहीन शाह अफरीदी है. शाहीन तुमको 5 गेंदे और फेकनी चाहिए थी, लेकिन तुम मैदान से भाग गए. इससे बड़ा कोई इवेंट नहीं हो सकता. इससे अच्छा तो मैदान से तुम्हारी लाश वापस आती. मैदान पर मरने पर शहीद कहलाते, कम से कम भगोड़े नहीं कहलाते.”

फैंस को दिया मुंहतोड़ जवाब

पाकिस्तानी गेंदबाज शाहीन अफरीदी को लेकर इस तरह की प्रतिक्रिया देने वाले ट्विटर यूजर पर अपनी भड़ास निकालते हुए वसीम अकरम (Wasim Akram) ने कहा कि

“तुम अपने प्लेयर के लिए ऐसी बातें लिख रहे हो काश तू मेरे सामने होता.”

दरअसल फाइनल मुकाबले में कैच लेते वक्त उनके पैर में खिंचाव आ गया था, जिस वजह से शाहीन अफरीदी को मैदान छोड़कर जाना पड़ा, जिसके बाद इस यूजर का यह ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है.

ALSO READ: पैसे के कठपुतली हैं ये 3 भारतीय खिलाड़ी, आईपीएल में खूब चलता है बल्ला, देश की बात आती है तो हो जाते हैं फुस्स

पाकिस्तानी फैंस ने की अपनी मर्यादा पार

इस ट्विटर यूजर पर वसीम अकरम (Wasim Akram) का गुस्सा होना पूरी तरह लाजमी है, क्योंकि खेल एक ऐसी भावना है, जिसमें हमें खिलाड़ियों का हर हाल में सम्मान करना चाहिए, क्योंकि हार जीत तो लगा रहता है, लेकिन इस तरह की बयानबाजी खिलाड़ियों के हौसले को और कमजोर करती है.

इसलिए हमें ऐसे शब्दों का उपयोग नहीं करना चाहिए जो खिलाड़ियों के आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाए. भले ही इंग्लैंड के हाथों पाकिस्तान की टीम फाइनल का मुकाबला हार गई हो, लेकिन पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने अपनी टीम को जिताने की पूरी कोशिश की और फाइनल का मुकाबला बेहद ही रोचक रहा.

ALSO READ: IND vs NZ: न्यूजीलैंड दौरे पर सिर्फ पानी पिलाते नजर आयेंगे ये तीन खिलाड़ी, नही मिलेगा प्लेइंग इलेवन में मौका