तमिलनाडु के इन 2 खिलाड़ियों के साथ कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ कर रहे नाइंसाफी, अकेले दम पर जीता सकते हैं मैच
तमिलनाडु के इन 2 खिलाड़ियों के साथ कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ कर रहे नाइंसाफी, अकेले दम पर जीता सकते हैं मैच

भारत और पाकिस्तान के बीच आज एशिया कप 2022 में सुपर 4 का दूसरा मुकाबला खेला जा रहा है. टॉस जीतकर पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया है, जिसके बाद भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी है. भारतीय टीम ने आज के मैच में बेहद ही शानदार तरीके से पारी की शुरुआत की और पॉवर प्ले में ही पाकिस्तानी गेंदबाजों की कलई खोल दी.

रोहित शर्मा कर रहे इन 2 खिलाड़ियों के साथ नाइंसाफी

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा और टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ तमिलनाडु के इन 2 खिलाड़ियों के साथ नाइंसाफी कर रहे हैं. हम बात कर रहे हैं तमिलनाडु के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने वाले दिनेश कार्तिक और रविचंद्रन अश्विन की. इन दोनों खिलाड़ियों को अब तक खेलने का मौका नहीं मिल सका है.

अगर बात करें दिनेश कार्तिक की तो उन्हें पहले पाकिस्तान और फिर हांगकांग के खिलाफ टीम की प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका जरुर मिला, लेकिन उन्हें बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला. पाकिस्तान के खिलाफ 28 अगस्त को हुए मैच में उन्हें बल्लेबाजी के लिए भेजा जा सकता था, लेकिन कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ ने उनसे पहले रविंद्र जडेजा और हार्दिक पंड्या को बल्लेबाजी कराई, वहीं दूसरे मैच में सूर्यकुमार यादव और विराट कोहली ने विकेट गिरने ही नहीं दिया और ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की ऐसे में दिनेश कार्तिक को बल्लेबाजी का मौका मिलने का सवाल ही नहीं उठता है.

ALSO READ: Asia Cup 2022, IND vs PAK: रोहित शर्मा ने बताया अश्विन और कार्तिक के होते क्यों दीपक हुड्डा और रवि बिश्नोई को दिया गया मौका

अश्विन से पहले युजवेंद्र चहल और रवि बिश्नोई को तवज्जो

अब अगर रविचंद्रन अश्विन की बात करें तो उन्हें अब तक खेले गये दोनों ही मैचों में प्लेइंग इलेवन का ही हिस्सा नहीं बनाया गया है. रविचंद्रन अश्विन जैसे अनुभवी गेंदबाज के होने के बाद भी कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ ने पहले युजवेंद्र चहल को मौका दिया तो अब चहल के साथ रवि बिश्नोई को मौका दिया गया है.

रविचंद्रन अश्विन टी20 के काफी अनुभवी गेंदबाज हैं, इसके साथ ही वो बल्लेबाजी में भी महत्वपूर्ण योगदान दे सकते थे. अगर रविचंद्रन अश्विन को अब तक दोनों मैचों में फ्लॉप रहे युजवेंद्र चहल की जगह मौका दिया जाता तो वो महत्वपूर्ण साबित हो सकते थे, लेकिन भारतीय कप्तान और कोच ऐसा नहीं चाहते हैं.

ALSO READ: IND VS PAK Toss Report: टॉस जीतकर बाबर आजम ने किया पहले गेंदबाजी का फैसला, भारतीय टीम में हुए ये 3 बड़े बदलाव