ROHIT SHARMA TEAM INDIA CAPTAIN

वर्तमान भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने भारत के लिए दो विश्व कप खेला है. साल 2015 और साल 2019 का विश्व कप, जहां भारत दोनों बार सेमीफाइनल में हार गई थी. यानी रोहित शर्मा अभी तक एक भी बार विश्व कप फाइनल में नही खेले हैं और नाही उनको वह ऐतिहासिक ट्राॅफी देखने को मिली है. वेस्टइंडीज में आईसीसी से बात करते हुए रोहित शर्मा ने एकदिवसीय विश्व कप की ट्राॅफी को लेकर कुछ दिलचस्प बात कही है, आइए पढ़ते हैं.

मैंने ट्राॅफी को कभी इतने करीब से नही देखा है: रोहित शर्मा

रोहित शर्मा ने आईसीसी से बात करते हुए कहा कि,

‘मैंने इसे इतने करीब से कभी नहीं देखा. हम 2011 में जीते थे, लेकिन मैं उस टीम में नहीं था. यह सुंदर ट्रॉफी है और इसके पीछे कई यादें, अतीत, इतिहास है.यह बहुत सुंदर है और उम्मीद है कि हम इसे जीतेंगे.’

हमें जबर्दस्त समर्थन मिलेगा~ रोहित शर्मा

रोहित शर्मा ने कहा,

‘मुझे पता है कि मैदान पर हमें जबर्दस्त समर्थन मिलेगा. यह विश्व कप है और हर किसी को इसका इंतजार रहता है. भारत में यह 12 साल बाद हो रहा है. पिछली बार हमने 2011 में वनडे विश्व कप की मेजबानी की थी. हमने 2016 में 20 ओवरों का विश्व कप खेला, लेकिन वनडे विश्व कप देश में 12 साल बाद हो रहा है. लोग काफी रोमांचित हैं और अभी से हाइप बननी शुरू हो गई है.’

2011 विश्व कप के दौरान कहां थे रोहित शर्मा

विश्व कप की अपनी यादों के बारे में रोहित शर्मा ने कहा,

‘भारत ने 2003 में फाइनल तक अच्छा खेला. सचिन तेंदुलकर ने इतने रन बनाये. फिर 2007 विश्व कप में हम पहले दौर से बाहर हो गए. 2011 हम सभी के लिये यादगार विश्व कप रहा. मैंने घर पर हर मैच, हर गेंद देखी. दो तरह के भाव थे. एक तो टीम में नहीं होने का दुख था और मैंने तय किया था कि मैं नहीं देखूंगा. दूसरा भारत के शानदार प्रदर्शन की खुशी थी.’

2015 और 2019 के फाइनल का अनुभव रोहित ने बताया

रोहित शर्मा ने आगे कहा कि,

‘मैंने 2015 और 2019 विश्व कप खेला. यह शानदार अनुभव था. हम सेमीफाइनल तक पहुंचे, लेकिन फाइनल नहीं खेल सके. अब विश्व कप फिर भारत में है और हम पूरे टूर्नामेंट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करेंगे. विश्व कप में हर दिन नया है और नयी शुरूआत करनी है. यह टेस्ट क्रिकेट नहीं है जिसमें एक दिन आपका पलड़ा भारी है तो अगले दिन भी जारी रहेगा.’

ALSO READ:रोहित शर्मा ने की भविष्यवाणी बताया कौन सी टीम है विश्व कप 2023 जीतने की सबसे प्रबल दावेदार