रवींद्र जडेजा

MI vs CSK: आईपीएल के 33वें मुकाबले में रवींद्र जडेजा की अगुवाई वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने मुंबई इंडियंस को 3 विकेट से मात दी और टूर्नामेंट की दूसरी जीत दर्ज की. डीवाई पाटिल स्टेडियम में खेले गए इस रोमांचक मुकाबले में चेन्नई के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अंत में मैच विन्निंग पारी खेलकर एक बार फिर साबित कर दिया कि क्यों उन्हें दुनिया का सबसे बेहतरीन फिनिशर माना जाता है. इस जीत के साथ चेन्नई की टीम ने अपनी प्लेऑफ की उमीदों को बरकरार रखा है, हालांकि अभी भी यह टीम 4 अंकों के साथ नौवें पायदान पर बनी हुई है

रवींद्र जडेजा ने मानी बड़ी गलती

इस मैच में चेन्नई को आखिरी ओवर में जीत के लिए  17 रनों की जरूरत थी और क्रीज पर एमएस धोनी के साथ प्रीटोरियस मौजूद थे. हालांकि प्रीटोरियस ओवर की पहली ही गेंद पर आउट हो गए, जिसके बाद ब्रावो ने धोनी को स्ट्राइक पर पहुंचाया. इसके बाद बची हुई 4 गेंदों पर धोनी ने 2 चौके और 1 छक्का जड़कर अपनी टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचाया. इस रोमांचक जीत के बाद कप्तान रवींन्द्र जडेजा ने कैच छोड़ने पर भी बोला है जिसे लेकर वह खुश नही है उन्होंने कहा कि,

“हम बहुत टेंशन में थे जैसे मैच आगे बढ़ रहा था. लेकिन, कहीं ना कहीं हम जानते थे कि बेहतरीन फीनिशर अभी वहां पर हैं और अगर वह आखिरी गेंद खेले तो वह निश्चित तौर पर मैच जिता देंगे.उन्होंने दुनिया को दिखाया कि वे अभी भी यहां हैं और मैच खत्म कर सकते हैं.”

उन्होंने आगे कहा, ‘मैं कभी भी फील्डिंग को हल्के में नहीं लेता और इस पर काम करना होगा. हमें अपनी फील्डिंग पर कुछ काम करना होगा और कैच लेने होंगे क्योंकि हम हर मैच में कैच नहीं छोड़ सकते.

बता दें कप्तान रविंद्र जडेजा ने इस मैच में 2 बार कैच ड्राप किया था.

ALSO READ:IPL 2022: ‘मै आज जो भी हूं उसका श्रेय बस ऋषभ पंत को जाता है’ मैन ऑफ द मैच लेते हुए भावुक हुए कुलदीप यादव, इस खिलाड़ी के साथ शेयर किया ट्रॉफी

आखिरी ओवर में चेन्नई ने जीता रोमांचक मैच

आईपीएल इतिहास की दो सबसे सफल टीमों के बीच खेले गए इस मुकाबले में रोमांच अंत तक बना रहा. इस मैच में टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई की टीम ने युवा बल्लेबाज़ तिलक वर्मा की शानदार अर्धशतकीय पारी के दम पर 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 155 रनों का स्कोर खड़ा किया. जवाब में चेन्नई ने अंबाती रायुडू (40) और एमएस धोनी (28*) की अहम पारियों की बदौलत 3 विकेट से इस मुकाबले को अपने नाम किया. इस जीत के बाद जहां एक तरफ चेन्नई ने प्लेऑफ में जाने की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखा है, वहीं दूसरी तरफ मुंबई की टीम टूर्नामेंट से बाहर होने वाली पहली टीम बन चुकी है.

ALSO READ:IPL 2022: लम्बे समय से थी जूनियर मलिंगा पर धोनी की नजर, अब अचानक कराया CSK में एंट्री विरोधी खेमे भी हुआ हलचल