ravichandran ashwin rohit sharma
रविचंद्रन अश्विन और रोहित शर्मा

टीम इंडिया (Team India) के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने पिछले महीने राजकोट में इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के दौरान हुई फैमिली इमरजेंसी के बारे में खुलकर बात की। उन्हें घर पर मेडिकल इमरजेंसी के कारण खेल से हटना पड़ा था। रविचंद्रन अश्विन को अपनी मां की देखभाल करनी थी, जिसके बारे में उन्होंने बताया कि तेज सिरदर्द के बाद वह गिर गईं।

रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने दिन की शुरुआत में अपना मील का पत्थर 500वां विकेट लिया था और बाद में दिन में प्रेस से भी बातचीत की। हालांकि, शाम को बीसीसीआई ने एक बयान जारी कर पुष्टि की कि अश्विन ने व्यक्तिगत चिकित्सा आपात स्थिति के कारण टीम छोड़ दी है। हालांकि, ऑफ स्पिनर टेस्ट के चौथे दिन फिर से टीम में शामिल हो गया और दूसरी पारी में एक विकेट भी लिया, जिससे भारत ने 434 रन की रिकॉर्ड जीत दर्ज की।

अब Ravichandran Ashwin ने Rohit Sharma को लेकर किया ये खुलासा

यूट्यूब चैनल पर अश्विन ने उस दिन क्या-क्या हुआ इस पर बात की। इस चुनौतीपूर्ण समय के दौरान रोहित शर्मा और चेतेश्वर पुजारा (Rohit Sharma and Cheteshwar Pujara) ने उनकी काफी मदद की। अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने कहा

“यह सब दूसरे दिन शुरू हुआ। मैं 499 विकेट पर था और विशाखापत्तनम में दूसरे टेस्ट में इस मील के पत्थर तक पहुंचने की उम्मीद कर रहा था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। राजकोट में दूसरे दिन मुझे आखिरकार जैक क्राउली का विकेट मिल गया। आखिरकार मैं मील के पत्थर तक पहुंच गया। यह मेरा 500वां विकेट रहा।”

उन्होंने (Ravichandran Ashwin) आगे कहा कि

“खेल खत्म होने के बाद मैं कुछ प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए गया। मैंने अभी-अभी अपना 500वां विकेट हासिल किया था, इसलिए अपनी पत्नी या पिता के फोन की उम्मीद कर रहा था। जब कॉल नहीं आया तो हैरान था। लगभग शाम के 7 बज रहे थे। मुझे लगा कि वे इंटरव्यू और बधाई संदेशों का जवाब देने में व्यस्त होंगे, इसलिए इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचा। माता-पिता से बात नहीं हुई तो आखिरकार मैंने अपनी पत्नी से फोन मिलाया। उसकी आवाज टूट रही थी। मैंने उससे कहा कि मैं बस स्नान करने ही वाला हूं और उसने मुझे अपनी टीम के साथियों से दूर कहीं अकेले जाने के लिए कहा। उसने बताया कि मां गंभीर सिरदर्द के बाद बेहोश हो गई थीं।”

Ravichandran Ashwin की पत्नी से रोहित शर्मा से फोन पर की थी ये बात

अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने खुलासा किया कि पत्नी प्रीति ने कप्तान रोहित शर्मा से बात की थी। अश्विन ने कहा कि

“मुझे लगता है कि मैं अपने फोन का जवाब नहीं दे रहा था, इसलिए मेरी पत्नी ने रोहित और द्रविड़ को यह खबर बताने के लिए फोन किया होगा। रोहित अंदर आए मुझे सोचते हुए देखा और बोला- तुम क्या कर रहे हो? तुम्हें तुरंत चले जाना होगा। अपना बैग पैक करो और जाओ। यहां चुनौती घर वापसी के लिए ट्रैवेल की व्यवस्था करने का था। अगली सुबह तक चेन्नई के लिए कोई फ्लाइट नहीं दिख रही थी।”

अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने खुलासा किया कि पत्नी प्रीति ने कप्तान रोहित शर्मा से बात की थी। अश्विन ने बताया

“मुझे लगता है कि मैं अपने फोन का जवाब नहीं दे रहा था, इसलिए मेरी पत्नी ने रोहित और द्रविड़ को यह खबर बताने के लिए फोन किया होगा। रोहित अंदर आए मुझे सोचते हुए देखा और बोला- तुम क्या कर रहे हो? तुम्हें तुरंत चले जाना होगा। अपना बैग पैक करो और जाओ। यहां चुनौती घर वापसी के लिए ट्रैवेल की व्यवस्था करने का था। अगली सुबह तक चेन्नई के लिए कोई फ्लाइट नहीं दिख रही थी।”

रोहित शर्मा ने कराया मेरे लिए चार्टेड प्लेन

भारत के दिग्गज स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने आगे कहा कि

“मैंने कमलेश से कहा, ‘सब ठीक है, कृपया यहीं रुकें।’ लेकिन जब मैं फ्लाइट में चढ़ने गया तो वहां पहले से ही कमलेश और एक सुरक्षाकर्मी मौजूद थे। सिर्फ इतना ही नहीं, बल्कि रोहित नियमित रूप से मुझसे मिलने और यह देखने के लिए कि मैं कैसा कर रहा हूं, कमलेश को फोन करते रहे। इससे मैं बहुत प्रभावित हुआ। स्वार्थी समाज में वह व्यक्ति जो किसी और की भलाई के बारे में सोचने के लिए एक पल भी नहीं गंवाता है वह वास्तव में महान है। 37 वर्षीय ने भारतीय कप्तान की कप्तानी की सराहना की और कठिन समय में समर्थन के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।”

उन्होंने आगे अपनी बात को बढ़ाते हुए कहा कि
“रोहित शर्मा दमदार व्यक्ति और शानदार नेता हैं। उनका दिल बड़ा है। मैंने इसे महसूस किया है। मैं मैदान पर उसके लिए अपनी जान दे सकता हूं, वह इसी तरह का कप्तान है। उन्होंने पांच आईपीएल सहित कई खिताब जीते हैं। मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि रोहित अपने करियर और जीवन में और भी अधिक उपलब्धियां हासिल करें। उन्होंने कहा- उनके प्रति मेरा सम्मान और बढ़ गया। अगर वह किसी खिलाड़ी पर विश्वास करते हैं तो वह उस खिलाड़ी का समर्थन करते हैं। यह आसान बात नहीं है। यहां तक कि धोनी भी ऐसा करते हैं। लेकिन रोहित बहुत आगे हैं।”