रवि शास्त्री

राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ी युजवेंद्र चहल ( Yuzvendra Chahal) ने जब खुद के 15वी मंजिल से लटकाए जाने का किस्सा सबके सामने रखा, तब मानो क्रिकेट को जेंटल मैन गेम के संदर्भ में भूचाल आ गया। अत्यंत गंभीर में मुद्दा फैंस के बीच काफी चर्चा में आ गया। हालांकि युजवेंद्र चहल ( Yuzvendra Chahal) ने इस खिलाड़ी का नाम नहीं लिया है। लाजिमी मसले में सभी की प्रतिक्रिया समाने आने लगी हैं। वीरेंद्र सहवाग के बाद अब रवि शास्त्री ने भी इस मसले पर अपनी राय रखी है और कहा है कि खिलाड़ी कोई भी हो उसे बैन कर देना चाहिए।

रवि शास्त्री ने कहा कि कोई भी खिलाड़ी हो बैन कर देना चाहिए

रवि शास्त्री

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने युजवेंद्र चहल ( Yuzvendra Chahal) को 15वी मंजिल से लटकाने के मामले में खिलाड़ी को बैन लगा देने की बात कही है। उन्होंने इस मसले पर बेबाकी के साथ अपनी राय रखी है। रवि शास्त्री ने कहा है कि ” मुझे नहीं पता कि वो कौन खिलाड़ी था जोकि इस मसले में शामिल था।

लेकिन वो होश में नहीं था। ये काफी चिंता का विषय है। ये हसने लायक बात नहीं है। अगर ये घटना आज होती तो उस खिलाड़ी पर तुरंत बैन लगा दिया जाता। उसे तुरंत ही रिहैब भेजना चाहिए और आउट जीवन भर क्रिकेट पिच के आस – पास भी नहीं आने देना चाहिए”।

ALSO READ:IPL 2022: मुंबई इंडियंस के खिलाड़ी ने चहल के कमरे में घुस कर 15वी मंजिल से लटकाया, युजवेंद्र का खुलासा- साथी खिलाड़ियों ने बचाया वरना चली जाती जान

इससे पहले भी खिलाड़ी कर चुके हैं चहल के साथ बुरा बर्ताव

युजवेंद्र चहल

युजवेंद्र चहल में बताया कि 2011 में मुंबई इंडियंस के चैंपियन लीग जीतने के बाद एंड्रयू सायमंड्स और जेम्स फ्रेंकलिन युजवेंद्र चहल के पास आए। वो होश में इतने ज्यादा गुम थे कि उन्होंने युजवेंद्र चहल ( Yuzvendra Chahal) के हाथ पैर बांध दिए थे और मुंह पर टेप भी लगा दिया था। जिसके बाद दोनों मस्ती मजाक के चक्कर में उनके साथ मस्ती में इसका बैठे। साथ ही इतने ज्यादा होश से बाहर थे कि युजवेंद्र चहल ( Yuzvendra Chahal) को खोलना ही भूल गए। जिसके बाद सुबह जब होटल का सफाई करनी कमरे में आया तब उसने युजवेंद्र चहल ( Yuzvendra Chahal) को खोला था।

बता दें, हाल ही में चहल ने बताया कि 2013 में मुंबई इंडियंस का हिस्सा थे। तब बैंगलोर में मैच के बाद एक गेट टुगेदर पार्टी में नशे में एक खिलाड़ी ने उन्हें 15वी मंजिल से लटका दिया था। जिसके बाद वहा लोगों ने उन्हें बचाया था। इसी के साथ उन्होंने उस खिलाड़ी की गर्दन भी पकड़ की थी। अगर उनकी ग्रिप छूट जाती तब वो नीचे गिर जाते। जिसके बाद लोगो ने उस स्तिथि की संभाला था।

ALSO READ:IPL 2022: बीच मैच में ही किसके दबाव में रविचंद्रन अश्विन ने लिया रिटायर्मेंट ,कप्तान संजू सैमसन ने किया खुलासा