गुजरात टाइटंस के फाइनल जीतने के बाद राहुल तेवतिया और शुभमन गिल ने आशीष नेहरा को नजरअंदाज कर इन्हें दिया पूरा श्रेय

इंडियन प्रीमियर लीग का 15वां सीजन खत्म हो गया है, इस सीजन में डेब्यू टीम गुजरात टाइटंस ने फाइनल में राजस्थान को हराकर कप अपने नाम किया. गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक पांड्या ने शुरूआत से टीम को अच्छी तरह से लीड किया और अंत में नतीजा बहुत ही शानदार रहा.

गुजरात टाइटंस शुरू से अंक तालिका में उपर रही और अंत आते-आते उसने फाइनल में बाज़ी मार ली. पहले बल्लेबाज़ी करके राजस्थान रॉयल्स ने 20 ओवरों में 9 विकेट खोकर 130 रन बनाए. वहीं इसके जवाब में गुजरात टाइटंस ने 18.1 ओवर में 7 विकेटों से मैच को अपने नाम कर लिया. मैच के बाद राहुल तेवितिया और शुभमन गिल ने बयान दिया.

स्टार फिनिशर तेवतिया ने दिया बयान

राहुल तेवतिया

मैच के बाद राहुल तेवतिया ने बात करते हुए कहा,

‘क्वालीफायर-1 तक माहौल बिल्कुल तनावमुक्त था. हम जानते थे कि हम इस सीजन अच्छा खेल रहे हैं. हमारा प्लान इसको फिनिशर के लिए और गहराई में ले जाकर खत्म करने का था. मुझे पार्टी के बारे में तो नहीं पता, लेकिन किसी ने मुझसे सीजन की शुरुआत में पूछा था कि आपका उद्देशय क्या है? मैने इसके जवाब में कहा था कि मेरा व्यक्तिगत कोई उद्देशय नहीं है, लेकिन अगर हम जीत जाएं तो ये अच्छा होगा. यह एक नई टीम थी, नया माहौल था. मुझे पार्टी के बारे में तो नहीं पता, लेकिन मैं आज पूरी रात सोने नहीं वाला.’

ALSO READ: IPL 2022 FINAL, RR vs GT, STATS: मैच में बने 10 ऐतिहासिक रिकॉर्ड, हार्दिक पंड्या ने लगाई रिकॉर्ड की झड़ी, तो संजू सैमसन के नाम दर्ज हुआ ये शर्मनाक रिकॉर्ड

टीम के बारे में आगे बात करते हुए उन्होंने कहा,

‘मेगा ऑक्शन के बाद कहा जा रहा था कि हमारे पास बल्लेबाज़ो की कमी है. अनुभवी बल्लेबाज़ हमारे पास कम हैं. मैनेजमेंट के द्वारा जिस तरह से मुझे और डेविड मिलर को टीम में वापस लाया गया, वो बहुत अच्छा हुआ. कप्तान ने मुझ पर भरोसा किया. उन्होंने मुझसे कहा, तुम अपने खेल पर भरोसा करो और जिस तरह फिनिश करते हो करते रहो.’

गिल ने मैच खत्म होने बाद कही बड़ी बात

शुभमन गिल

मैच के बाद शुभमन गिल से जब बातचीत की गई तो उन्होंने कहा,

‘अंडर-19 का वर्ल्ड कप जीतने के बाद आईपीएल जीतना वाकई बड़ा है. मेरे लिए यह बहुत मायने रखता है. यह मेरा चौथा साल था. मैं आखिर तक यहां रहना चहाता हूं, यही हमारी कोच से बात हुई. मुझे खुशी है कि मैं उन्हें आखिर लाइन तक लाया. हमारे गेंदबाज़ों ने उन्हें 130 पर रोकने के लिए बहुत ही शानदार गेंदबाज़ी की. हम उन्हें 150 के अंदर रखना चाहते थे, लेकिन दुर्भाग्य से ये उससे बहुत कम था.’

ALSO READ: IPL 2022 Final: आईपीएल फाइनल से पहले बना ‘गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड’, भारत ने हासिल किया एक और उपलब्धी