ENG vs IND: विराट कोहली और जॉनी बेयरस्टो के बीच हुई गहमा-गहमी का खुला राज, बेयरस्टो ने बताया पूरे विवाद का कारण

इंग्लिश क्रिकेट टीम के बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो ( Jonny Bairstow) जोकि भारतीय टीम के खिलाफ एक सोए हुए शेर की तरह बल्लेबाजी कर रहे थे। लेकिन एक छोटी सी चिंगारी के बात उनका स्ट्राइक रेट दुगना हो गया। जॉनी बेयरस्टो ( Jonny Bairstow) ने दोनों पारियों में शतक लगाया। दूसरी पारी में शतक लगाकर नाबाद जीत दिलाकर वापस लौटे।

Ind Vs Eng: नहीं थमी रूट-बेयरस्टो की आंधी, 7 विकेट से मिली शर्मनाक हार, कप्तान बुमराह की इस गलती से गंवाया मैच

पहली पारी में 106 रन और दूसरी पारी में115 नाबाद रन बनाए हैं। मैच के बाद जॉनी बेयरस्टो ( Jonny Bairstow) को प्लेयर ऑफ द मैच ( Player Of The Match ) चुना गया। तब जॉनी बेयरस्टो ( Jonny Bairstow) ने कहा कि विरोधी टीम के पास कई विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं। साथ ही पिछला महीना इंग्लैंड टीम के लिए काफी शानदार रहा है। इसका भी जिक्र किया।

पिछला महीना काफी शानदार था: Jonny Bairstow

jonny bairstow

प्लेयर ऑफ द मैच जॉनी बेयरस्टो ( Jonny Bairstow) ने अपनी बातचीत में कहा कि,

“एक टीम के तौर पर हमें इस समय काफी मजा आ रहा है। पिछला महीना लड़कों के लिए शानदार रहा है और जब हर कोई अच्छा करता है तो उनके चेहरे पर मुस्कान इसका एक बड़ा हिस्सा है। मैं इसे मूल बातें वापस ले रहा हूं।

पिछले कुछ साल मेरे लिए कठिन रहे हैं, लेकिन पिछले कुछ महीने शानदार रहे हैं। उन सभी के लिए निष्पक्ष खेल जो उस से गुजरे। दर्शको के लिए भी पांचवां दिन 90 मिनट में खत्म हो गया। मेरे पास अभी एक आनंद कारक है। मैं असफल होने से नहीं डरता और केवल विपक्ष पर दबाव बनाना चाहता हूं। हमारे पास जो दृष्टिकोण है, हम खेल हारने जा रहे हैं, लेकिन यह खेलने के लिए क्रिकेट का एक सकारात्मक मजेदार ब्रांड है।

Also Read : Ind Vs Eng, WTC Point Table: हार के बाद पॉइंट टेबल में हुई भारत की स्थिति खराब, अब फाइनल के लिए जीतने होंगे इतने मैच

जॉनी बेयरस्टो बोले वो डराने की कोशिश करते है

भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी की बारे में बात करते हुए जॉनी बेयरस्टो ( Jonny Bairstow) ने कहा कि,

” (हंसते हुए) चेसिंग नियंत्रण में थी। भारतीय टीम के पास कुछ विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं और आपको बस दबाव को सोखना होता है। वे डराने की कोशिश करते हैं, उनके पास कुछ शानदार खिलाड़ी हैं और यह उन पर दबाव बनाने की कोशिश करने के बारे में था। ऐसे चरण होंगे जब वे वास्तव में अच्छा खेलने वाले होंगे। एक दौर ऐसा भी आया जब इसने उलटफेर भी शुरू कर दिया। और आज की सुबह एक अलग सुबह थी। रूट और मैं यॉर्कशायर से सिर्फ दो लड़के हैं। हम एक साथ खेलते हुए बड़े हुए हैं और यॉर्कशायर अकादमी के दिनों से लेकर अब टेस्ट टीम तक काफी समय एक साथ बिताया है। उसके साथ खेलने के लिए विशेष”।

Also Read : IND vs ENG: टीम इंडिया का हार में सबसे बड़ा विलेन बना यह खिलाड़ी, एक गलती बनी हार की सबसे बड़ी वजह