BABAR AZAM PAK

पाकिस्तान और साउथ अफ्रीका (PAK vs SA) के बीच शनिवार को वनडे विश्व कप 2023 का रोमांचक मुकाबला खेला गया। इस दौरान दोनों टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। दक्षिण अफ्रीकी टीम ने पाकिस्तान को 16 गेंदों के शेष रहते हुए 1 विकेट से मात दी।

पाकिस्तान की इस शिकस्त ने टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने के चांसेस कम कर दिए हैं। अब बाबर आजम की सेना को बाकी मुकाबलों के परिणामों पर निर्भर रहना होगा।

मोहम्मद नवाज बने विलेन

पाकिस्तान बनाम साउथ अफ्रीका (PAK vs SA) मैच में बाबर आजम की सेना की हार का कारण मोहम्मद नवाज बने। दरअसल, साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 5 रनों की दरकार थी जबकि पाकिस्तान को 1 विकेट की जरुरत थी। सभी प्रमुख गेंदबाज अपने कोटे के ओवर फेंक चुके थे।

ऐसे में कप्तान बाबर आजम ने मोहम्मद नवाज पर भरोसा जताया और 48वां ओवर दिया। कप्तान को उम्मीद थी कि मोहम्मद नवाज टीम के लिए उपयोगी साबित होंगे, लेकिन वे टीम को वह नतीजा नहीं दिला सके।

कप्तान ने लगाई फटकार

साउथ अफ्रीका की पारी का 48वां ओवर फेंकने आए नवाज की पहली गेंद पर शम्सी ने एक रन लिया और गेंद उनके शरीर पर आई। इससे कप्तान नाखुश हुए, लेकिन अगली गेंद उन्होंने लेग स्टंप पर फेंक दी, जिस पर केशव महाराज ने चौका जड़ दिया और मैच को फिनिश कर दिया।

इसके बाद कप्तान बाबर आजम के सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने अपना आपा खो दिया। पाकिस्तान बनाम साउथ अफ्रीका (PAK vs SA) मैच में मिली हार के बाद कप्तान ने मोहम्मद नवाज को कसकर फटकार लगाई। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है जिसपर फैंस रिएक्ट कर रहे हैं।

1 विकेट से जीता साउथ अफ्रीका

गौरतलब है कि पाकिस्तान बनाम  साउथ अफ्रीका (PAK vs SA) मैच में बाबर आजम की सेना ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 46.4 ओवर में 10 विकेट खोकर 270 रनों का स्कोर तैयार किया था। इस दौरान कप्तान बाबर आजम और साऊद शकील ने शानदार अर्धशतकीय पारियां खेली थीं।

वहीं, शादाब खान ने 43 रनों की पारी खेली। इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी साउथ अफ्रीकी टीम के लिए ऐडन मार्क्रम ने विस्फोटक प्रदर्शन किया।

इस खिलाड़ी ने 91 रनों की खतरनाक पारी खेलकर टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचा दिया। मारक्रम के अलावा कोई भी बल्लेबाज 30 रनों के आंकड़े को भी नहीं छू पाया।

ALSO READ: भारत के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया टीम हुई घोषित, इन 15 खिलाड़ियों को मिला मौका, ये खिलाड़ी पहली बार बना कप्तान