T20 वर्ल्ड कप से पहले अचानक इस विदेशी कोच को टीम इंडिया में क्यों किया शामिल, खुद राहुल द्रविड़ ने खोला राज

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ का मानना है कि 2011 विश्व कप के दौरान मेंटल कंडीशनिंग कोच के तौर कर शामिल पैडी अप्टन अब इस साल भी विश्व कप के लिए टीम से जुड़ेंगे जोकि टीम के लिए अच्छा होगा। राहुल द्रविड़ ने पैडी अप्टन के भारतीय क्रिकेट टीम के साथ जुड़ने को लेकर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। पैडी अप्टन के टीम में जुड़ने को लेकर  द्रविड़ ने कहा कि अगर मानसिक स्वास्थ्य इतना जरूरी है। तब पैडी अप्टन का टीम से जुड़ना भी अहम साबित होगा। जानिए और क्या कहा  द्रविड़ ने…

पैडी अपटन सचमुच मददगार साबित होंगे : राहुल द्रविड़

ऋषभ पंत के खराब प्रदर्शन के बाद कोच राहुल द्रविड़ ने बताया क्या टी20 विश्व कप 2022 में मिलेगा उन्हें टीम में मौका? कही ये बात

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ का कहना है कि भारतीय टीम लगातार इतना क्रिकेट खेल रही है। ऐसे में शारीरिक स्वास्थ के साथ ही मानसिक स्वास्थ्य भी बहुत जरूरी है। पैडी अप्टन भारतीय टीम में 2008 से 2011 तक स्टाफ का हिस्सा रह चुके हैं।  द्रविड़ ने बीसीसीआई डॉट टीवी के साथ बातचीत में कहा कि,

”इतना क्रिकेट खेला जा रहा है कि क्रिकेट में मानसिक स्वास्थ्य काफी अहम है और अपटन जैसा संसाधन होना ग्रुप के लिये सचमुच मददगार होगा”।

राहुल द्रविड़ ने कहा हम भाग्यशाली हैं जो पैडी अप्टन जैसा व्यक्ति हमारे साथ है

paddy apton

द्रविड़ ने भारतीय टीम के लगातार करते सफर को ध्यान में रखते हुए पैडी अप्टन के टीम से जुड़ने को सही कदम बताया है।  द्रविड़ ने कहा,

”अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में यात्रा करते हुए बतौर क्रिकेटर हम खेल की मानसिक पहलू को समझते हैं और हम भाग्यशाली हैं कि पैडी जैसा व्यक्ति हमारे साथ हैं क्योंकि उन्हें 2011 विश्व कप के दौरान भारतीय टीम के साथ होने का अनुभव है और इससे थोड़ा पहले का भी। सबसे अहम चीज कि वह ज्यादातर भारतीय खिलाड़ियों को जानते हैं क्योंकि वह भारतीय टीम में या इंडियन प्रीमियर लीग में उनके साथ काम कर चुके हैं”।

 द्रविड़ ने टीम को फूल और कोच को उपजाऊ जमीन तैयार करने वाला बताया

राहुल द्रविड़ द्रविड़ ने आगे अपनी बातचीत में खिलाड़ियों के प्रति कोच की भूमिका के विषय में बात की है। राहुल द्रविड़ ने एक खूबसूरत उदाहरण से बताया है कि कोच के तौर पर उनकी भूमिका उपजाऊ माहौल बनाने की होती है जिससे टीम के खिलाड़ियों को मैदान के अंदर और बाहर प्राकृतिक रूप से अपनी पूरी क्षमता से प्रदर्शन करने में मदद मिले। राहुल द्रविड़ ने कहा

“वह हमारी संस्कृति से परिचित हैं और भारतीय टीम किस तरह से काम करती है। वह हमारे लिये पूरी तरह फिट दिखते हैं और विश्व कप के लिये टीम की तैयारियों में उनकी जानकारी अहम साबित होगी”।

राहुल द्रविड़ ने आगे कहा,

“हर किसी का प्रेरित होने का तरीका होता है और व्यक्तियों को उनकी प्रेरणा खोजने में मदद करना मेरी भूमिका का हिस्सा है जिसके लिये हमें एक ऐसा माहौल बनाना होता है जिससे लोग खुद ही अच्छा करें। मैं आपको एक सरल भाषा में बताता हूं कि खूबसूरत फूल उगाने के लिये माली को उपजाऊ जमीन बनानी होती है। कोच के तौर पर हमारी भूमिका उपजाऊ माहौल बनाने की होती है जिससे हमारे खिलाड़ियों को मैदान के अंदर और बाहर प्राकृतिक रूप से अपनी पूरी क्षमता से प्रदर्शन करने में मदद मिले”।

Also Read : ICC ने 2027 तक किया क्रिकेट ग्लोबल इवेंट्स का ऐलान, इस देश को मिली विश्व कप 2025 की मेजबानी