SHREYAS IYER POST MATCH

भारतीय बैंटिग ऑर्डर के नम्बर चार की समस्या खत्म होने का नाम नही ले रही है. लंबे समय की चोट के बाद श्रेयस अय्यर ने एशिया कप में वापसी तो की, लेकिन वह फिर से चोटिल हो गए. अब कल खेले गए मैच में श्रेयस अय्यर ने शतक तो जरूर बनाया, लेकिन इसके बाद वह फिर से चोटिल हो गए. मैच के बाद श्रेयस अय्यर ने अपने चोट पर अपडेट दिया है.

श्रेयस अय्यर ने अपनी चोट पर कही ये बात

भारत की पारी के बाद बोलने आए श्रेयस अय्यर ने कहा कि,

‘मेरा ध्यान ऐंठन पर था, यह मुझे बल्ले को मजबूती से पकड़ने में कठिनाई दे रहा था. मैं लगभग कॉट एंड बॉल हो चुका था, मुझे एहसास हुआ कि मेरा टॉप हैंड काम नहीं कर रहा था. जब मैं सीमा रेखा तक पहुंच रहा था, तो मैंने फैसला किया कि मैं हर गेंद को मारने की कोशिश करूंगा. मुझे लगा कि मैंने टीम को सही स्थिति में ला दिया है. मैं पूरी पारी के दौरान खुश था. मेरी मानसिकता गेंद को वी में खेलने की थी. मैं गेंद को जोर से मारने पर ज्यादा ध्यान केंद्रित नहीं कर रहा था, मैं इसे टाइम करना चाहता था.’

शुभमन गिल के साथ साझेदारी पर क्या बोले श्रेयस अय्यर

श्रेयस अय्यर ने आगे कहा कि,

‘मैं परिवर्तनशील उछाल का अनुभव कर रहा था. शुक्र है कि हम उस गति को अपनी ओर ले जाने में सफल रहे. शुभमन और मैंने बीच में काफी अच्छी पारी खेली और हमने एक शानदार मंच तैयार किया और टीम के लिए जहाज को स्थिर किया. अन्य बल्लेबाजों ने आकर खुद को अभिव्यक्त किया.’

इंदौर के पिच पर खेलना मुश्किल था

श्रेयस अय्यर ने आगे कहा कि,

‘मुझे शानदार शुरुआत मिली और इसके बाद मैं गेंद को उसकी योग्यता के आधार पर खेलने की कोशिश कर रहा था. शुभमन ने कार्यभार संभाला. यह एक-दूसरे के बीच शानदार लय बनाने जैसा था. यह टीम के लिए कारगर साबित हुआ. प्रत्येक व्यक्ति ने इस अवसर पर कदम बढ़ाया. जब मैं बल्लेबाजी करने गया तो अलग-अलग उछाल था. खेलना बहुत कठिन है.’

ALSO READ: श्रेयस अय्यर के शतक से बर्बाद हुआ रोहित शर्मा के करीबी दोस्त का करियर! प्लेइंग-XI में मौका मिलना मुश्किल