एम एस धोनी
सौरव गांगुली और द्रविड़ ही नहीं बल्कि दिग्गज खिलाड़ियों की कप्तानी में भी इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं एमएस धोनी

महेंद्र सिंह धोनी की गिनती भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफलतम कप्तानों में होती है। धोनी की कप्तानी में ही भारत ने साल 2007 का टी विश्व कप विजेता बना था और इसके बाद साल 2011 में भी वनडे विश्व कप और 2013 की आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया था। आज हम आपको उन 3 कप्तानों के बारे में बताएंगे,जिनकी नेतृत्व ने धोनी मैच खेल चुके हैं।

वीरेंद्र सहवाग

धोनी सहवाग
धोनी सहवाग

सौरव गांगुली और द्रविड़ के अलावा महेंद्र सिंह धोनी ने वीरेंद्र सहवाग की कप्तानी में भी भारत के लिए खेले गए 4 वनडे मैच में शामिल थे। इन मैचों में धोनी ने 55.33 की शानदार औसत से कुल 166 रन अपने नाम किये थे। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 94.31 का रहा था। इस दिग्गज खिलाड़ी ने सहवाग की कप्तानी में भारतीय टीम के लिए एक अर्धशतक भी जड़ा था। वीरेंद्र सहवाग की कप्तानी में धोनी ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ भी एक टी-20 मैच खेला था। हालांकि इस मैच में वे शून्य के स्कोर पर ही आउट हो गए थे और पवेलियन वापस चले गए थे। हालांकि भारतीय टीम इस मैच को जीत गई थी। बता दें कि यह मैच भारतीय टीम का पहला इंटरनेशल टी-20 मैच था। इसके साथ ही ये भी जान लीजिये कि वीरेंद्र सहवाग को कभी भारतीय क्रिकेट टीम का नियमित कप्तान नहीं बनाया गया था। उन्हें सिर्फ पार्ट टाइम ही कप्तानी दी जाती थी।

अनिल कुंबले

अनिल कुंबले धोनी
सहवाग के साथ ही धोनी ने अनिल कुंबले की कप्तानी में भी कुल 10 टेस्ट मैच खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 26.86 की औसत से भारतीय टीम के लिए 403 रन बटोरे थे। इसमें 3 अर्धशतक भी शामिल है। कुंबले की कप्तानी में धोनी ने टेस्ट क्रिकेट में 46 चौके और 4 छक्के भी जड़े थे। अनिल कुंबले के क्रिकेट जगत से संन्यास के बाद ही महेंद्र सिंह धोनी को टीम का कप्तान बनाया गया था। इससे पहले धोनी सिर्फ वनडे और टी-20 खेलों में ही टीम का नेतृत्व करते थे।

ALSO READ:महेंद्र सिंह धोनी मेरे जिंदगी के लिए ‘काला धब्बा’, एक्ट्रेस Raai Laxmi का बड़ा खुलासा

महेला जयवर्धने

धोनी जयवर्धने

इंटरनेशनल मैचों में महेंद्र सिंह धोनी, महेला जयवर्धने की कप्तानी में भी खेल चुके हैं। धोनी ने एशिया इलेवन की टीम के लिए महेला जयवर्धने की कप्तानी में मैच खेला था। साल 2007 में धोनी ने महेला जयवर्धने की कप्तानी में कुल 3 मैच खेले थे। इन तीनों मैचों में उन्होंने 87 की शानदार औसत से 174 रन अपने खाते में जोड़े थे। इस समय उनका स्ट्राइक रेट भी 125.17 भी रहा था। धोनी ने महेला जयवर्धने की कप्तानी में एक शानदार शतक भी जड़ा था। इन तीनों ही मैचों में एशिया इलेवन की टीम को एफ्रो अफ्रीका इलेवन के खिलाफ जीत हासिल हुई थी।

ALSO READ:IPL 2022: आईपीएल के कल दोनों मैचों में इस वजह से काली पट्टी बांधकर मैदान पर उतरे थे सभी खिलाड़ी