9dc33461 43b5 4a57 aa98 1691d9a32e20 - 1

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का नाम विश्व क्रिकेट के सफलतम कप्तानों की सूची में शुमार है। उन्होंने टीम इंडिया को तीन बार आईसीसी का खिताब जिताया। धोनी के नेतृत्व में भारत ने टी20 विश्व कप 2007, वनडे विश्व कप 2011 और आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2013 का खिताब जीता।

इस बार वनडे विश्व कप 2023 का आयोजन भारत की मेजबानी में हो रहा है। फैंस को उम्मीद है कि टीम इंडिया इस बार खिताब जीतकर 10 साल के सूखे को खत्म करने में कामयाब होगी।

15 अगस्त 2020 को धोनी ने लिया था संन्यास

इस बीच पूर्व भारतीय कप्तान एम एस धोनी ने अपने करियर के आखिरी मैच को लेकर बड़ा बयान दिया है। धोनी ने बताया कि कब उन्होंने अपने करियर को समाप्त समझ लिया था।

बता दें कि दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज ने 15 अगस्त 2020 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया था। धोनी ने बताया कि उन्होंने  ये फैसला 2019 विश्व कप के दौरान खेले गए भारत बनाम न्यूजीलैंड मैच के बाद ले लिया था।

न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में मिली शिकस्त के बाद धोनी ने ले लिया था रिटायरमेंट का फैसला

पूर्व कप्तान ने बताया कि वह इस मैच में जीत दर्ज करना चाहते थे, लेकिन किस्मत को कुछ और मंजूर था। मालूम हो कि विश्व कप 2019 का भारत बनाम न्यूजीलैंड मैच टीम इंडिया के लिए दु:स्‍वप्‍न साबित हुआ था। बारिश की वजह से ये मैच दो दिनों तक चला था। पहले बल्लेबाजी करते हुए कीवी टीम ने 50 ओवर में 8 विकेट खोकर 239 रन बनाए थे।

इसके जवाब में टीम इंडिया 49.3 ओवर में 221 रनों पर ऑलआउट हो गई थी। इस मुकाबले में धोनी ने 50 और जडेजा ने 77 रनों की पारी खेली थी।

18 रन की हार के साथ भारत का फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया था। अब पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी रिटायरमेंट को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि,

“जब आप एक करीबी गेम हार जाते हैं तो अपनी भावनाओं को नियंत्रित करना मुश्किल हो जाता है। अंदर ही अंदर मैंने अपनी पूरी योजना बना ली थी। मेरे लिए वह (2019 भारत बनाम न्यूजीलैंड सेमीफाइनल) आखिरी दिन था जब मैंने भारत के लिए क्रिकेट खेला। मैंने एक साल बाद संन्यास ले लिया, लेकिन सच यह है कि मैं उसी दिन रिटायर हो गया था। हम क्रिकेटरों को कुछ मशीनें और वह सब दी जाती हैं। इसलिए जब भी मैं ट्रेनर के पास जाता था तो मैं उन्हें वापस देता था। इस पर ट्रेनर कहते थे, ‘नहीं, तुम इसे रखो।’ तब मेरे दिमाग में ख्याल आता था कि मैं उन्हें कैसे बताऊं कि मुझे अब इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी। मैं उस समय संन्यास की घोषणा नहीं करना चाहता था।”

ALSO READ: विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल हार के बाद फूट-फूटकर रोये थे महेंद्र सिंह धोनी? अब खुद पूर्व कप्तान ने बताई सच्चाई